10 दिन से मुढ़ारी में पानी के लिए मची त्राहि-त्राहि

संवादसूत्र,बेलाताल(महोबा):जैतपुरविकासखंडकेसबसेबड़ेगांवोंमेंशुमारमुढ़ारीग्राममेंपानीकेलिएत्राहि-त्राहिमचीहुईहै।गांवमेंकरीबदसदिनसेजलसंस्थानसेहोनेवालीजलापूर्तिठपपड़ीहै।गांववासीसर्दियोंमेंभीपीनेकेपानीकोतरसरहेहैं।

जलसंस्थानकीघोरलापरवाहीकेचलतेमुढ़ारीग्रामवासियोंकोगर्मीकेसाथअबसर्दीकेदिनोंमेंभीपानीकेलिएतरसनापड़रहाहै।इससमयमकरसंक्रांतिपर्वसमेतऔरभीपूजा-पाठआदिकोलेकरइससमयघरोंमेंउत्सवजैसामाहौलरहताहै,लेकिनपानीकीकमीनेसारेउत्साहपरपानीफेरदियाहै।त्योहारपरभीनहानेवपीनेकेपानीकेलिएमहिलाओंकोखासीदिक्कतऔरपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।

गांववासियोंमेंगुस्साऔरतनावकीस्थितिबनतीजारहीहै।मुढ़ारीमेंपानीकीयहसमस्याकोईनईनहींहै।विकरालरूपलेतीइससमस्याकामुख्यकारणजलसंस्थानऔरजलनिगमकीआपसीलड़ाईएवंमतभेदकाहोनाहै।दोनोंहीविभागएकदूसरेकोजिम्मेदारबताकरपल्लाझाड़तेरहतेहैं।महीनोंफिल्टरप्लांटकीसफाईनहींकरवाईजातीहै।इसकीवजहसेफिल्टरचोकपड़ेहुएहैं।गंदेपानीकीसप्लाईकीजातीहै।एकहफ्तेसेवहसप्लाईभीठपपड़ीहै।

जलसंस्थानकेजेईपवनकुमारकाकहनाहैकिबिजलीसप्लाईसहीनहींआरहीहैइसकेकारणपानीआपूर्तिनहींहोपारहीहै।बिजलीसहीआतेहीदिक्कतदूरहोजाएगी।पूरेसालरहतासंकट

गांवकेशिवनाथ,राममिलन,झरोखेकाकहनाहैकिगर्मीहोयाबारिशगांवकेलोगोंकोपानीकासंकटतोझेलनाहीपड़ताहै।गांवमेंएकमात्रकुआहीसहाराबनताहै।घरोंमेंलगेनलकेवलशोपीसबनेहुएहैं।