2021 में कांग्रेस का डबल गेमः बंगाल में लेफ्ट दोस्त, तो केरल में रहेगा दुश्मन

नईदिल्लीपश्चिमबंगालविधानसभाचुनाव(WestBengalAssemblyElection)सेपहलेकांग्रेसऔरलेफ्टएकबारफिरसाथआगएहैं।लोकसभाचुनाव2019मेंबनीदूरीकोखत्मकरतेहुएकांग्रेसनेगुरुवारकोलेफ्टकेसाथगठबंधनकाऔपचारिकऐलानकरदिया।ऐसेमेंअबपश्चिमबंगालमेंकांग्रेसऔरलेफ्टदोनोंदलराज्यमेंमिलकरचुनावलड़ेंगे।हालांकिइसदरम्यानकेरलमेंहोनेवालेविधानसभाचुनावोंमेंदोनोंदलएक-दूसरेकेदुश्मनरहेंगेऔरखिलाफमेंचुनावलड़ेंगे।गुरुवारकोऔपचारिकगठबंधनकाऐलानहोनेपरपश्चिमबंगालकांग्रेसअध्यक्षअधीररंजनचौधरीनेकहाकिदोनोंदलोंमेंअभीसीटोंकाबंटवारानहींहुआहै।अगलेकुछदिनोंमेंइसकाभीऐलानहोनेकीउम्मीदहै।साथहीउन्होंनेकहाकिकांग्रेसऔरलेफ्टगठबंधनकीओरसेकोईमुख्यमंत्रीकाचेहरानहींहोगा।2016विधानसभाचुनावमेंकिसदलकाकैसाप्रदर्शन:पार्टीसीटोंपरजीतवोट(%)टीएमसी21144.9महाजोत(कांग्रेस+लेफ्ट)7637.7कांग्रेस44(92*)12.2लेफ्ट32(203*)25.5बीजेपी310.1अन्य47.3कुल294100*(इतनेसीटोंपरचुनाव)2016चुनावमेंफायदेमेंरहीथीकांग्रेसपश्चिमबंगालमें2016केविधानसभाचुनावमेंकांग्रेसऔरलेफ्टदोनोंदलोंमेंबीचगठबंधनहुआथा,हालांकिइसकीघोषणातबहुईथीजबप्रदेशमेंचुनावकीप्रक्रियाशुरूहोचुकीथी।कांग्रेसऔरलेफ्टने20सेअधिकसीटोंपरएक-दूसरेकेखिलाफभीचुनावलड़ाथा।ऐसेमेंलेफ्टकीओरसेकहागयाथाकिइससेसिर्फकांग्रेसकोहीफायदाहुआथा।कांग्रेसको44तोलेफ्टकोमिलींथीं32सीटेंपश्चिमबंगालके2016विधानसभाचुनावमेंतब294सीटोंमेंसेकांग्रेसको44सीटेंमिलींथीं,जबकिलेफ्टकेखातेमें32सीटेंआईंथीं।दोनोंकेगठबंधनकोलगभग30फीसदीवोटमिलेथे।तबकांग्रेस90सीटपरलड़ीजिसमें44जीतनेमेंसफलरहीथी।दोनोंनेअलगलड़ाथा2019कालोकसभाचुनावपश्चिमबंगालविधानसभाचुनावकेबादहुए2019केलोकसभाचुनावमेंकांग्रेसऔरलेफ्टदोनोंदलअलग-अलगलड़े।इसमेंकांग्रेसकोसिर्फछहप्रतिशतवोटमिलेथे,जोपार्टीकाअबतककासबसेखराबप्रदर्शनरहाथा।हालांकिइसबारभीकांग्रेसकादिल्लीनेतृत्वगठबंधनकेपक्षमेंनहींथा,लेकिनस्थानीयकैडरकेदबावकेचलतेगठबंधनकरनापड़ा।बंगाल:लेफ्टऔरकांग्रेससाथलड़ेंगे2021काविधानसभाचुनावजनवरीसेबंगालमिशनपरकांग्रेस,राहुलकादौराइसीमहीनेराजनीतिकजानकारोंकीमानेतोकांग्रेसऔरलेफ्टकागठबंधनहोनेसे50सेअधिकसीटोंपरदोनोंदलमिलकरटीएमसीऔरबीजेपीकोकड़ीचुनौतीदेसकतेहैं।हालांकिइसबारकेचुनावमेंमुख्यटक्करटीएमसीऔरबीजेपीकेबीचहीबताईजारहीहै।ऐसेमेंकांग्रेसकीओरसेकहागयाहैकिजनवरी2021सेबंगालमेंप्रचारशुरूहोजाएगाऔरराहुलगांधीकादौराभीइसीमहीनेसंभवहै।