72 घंटे शहर के लिए भारी, जल संकट करेगा परेशान

जागरणसंवाददाता,ऊधमपुर:ऊधमपुरमेंअगलेतीनदिनोंतकपानीकासंकटरहेगा।पहलेहीपानीकीसमस्यासेजूझरहेशहरमेंपीएचईकेअस्थायीकर्मचारियोंकी72घंटेकीहड़ताललोगोंकेसाथविभागकीपरेशानियोंमेंइजाफाकरेगी।हालांकिविभागअपनेनियमितस्टाफसेजलापूर्तिबहालरखनेकीयोजनाबनाचुकाहै,मगरशहरीइलाकेमें50फीसदऔरग्रामीणइलाकोंमें25फीसदतकजलापूर्तिप्रभावितरहनेकीआशंकाहै।

ऊधमपुरमेंशुक्रवारकोआयोजितप्रेसवार्तामेंपीएचईवाटरवर्कर्सएसोसिएशनकेवरिष्ठनेतासोमनाथनेशुक्रवाररात8बजेसे72घंटेकीकामछोड़हड़तालकाऐलानकिया।उन्होंनेकहाकिअस्थायीकर्मचारियोंकीसमस्याकोलेकरकेंद्रशासितप्रदेशप्रशासनगंभीरनहींहै।अस्थायीकर्मचारियोंका56से60माहकावेतनबकायाहै,जिसेलेकरविभागकेउच्चाधिकारियोंसेलेकरउपराज्यपालवअन्यवरिष्ठअधिकारियोंकोअनेकबारअवगतकरायाजाचुकाहै।इसकेबावजूदआजतकअस्थायीकर्मचारियोंकोवेतनदेनेऔरउनकीलंबितमांगोंकोपूराकरनेकेलिएकुछनहींकियागयाहै।सरकारऔरविभागकेऐसेरवैयेकेकारणएसोसिएशननेशुक्रवाररातआठबजेसेअगले72घंटेतककामछोड़हड़तालकाऐलानकियाहै।इस72घंटेकीहड़तालकेकारणजलापूर्तिप्रभावितहोगी।

सोमनाथनेकहाकिपिछले20-25वर्षोसेविभागमेंकामकररहेअस्थायीकर्मचारियोंकोनियमितकरनेकेलिएकुछनहींकियागयाहै।इसलिएजलशक्तिविभागमेंअर्सेसेकार्यरतइनअस्थायीकर्मचारियोंकोप्राथमिकताकेआधारपरनियमितकरनेकीनीतितैयारकीजाए,जिससेउनकाभविष्यसुरक्षितहोसके।इसकेसाथहीपिछले56से60महीनेसेवेतनकेबिनाकामकररहेअस्थायीकर्मचारीवउनकेपरिवारभुखमरीकेकगारपरहैं।उधारलेकरवर्षोसेगुजाराकररहेइनलोगोंकोअबतोदुकानदारों,रिश्तेदारोंऔरपहचानवालेलोगोंनेभीउधारदेनाबंदकरदियाहै।

उन्होंनेलोगोंकेसाथप्रांतकेपीएचईकर्मचारियोंसेउनकीकामछोड़हड़तालकासमर्थनकरनेकीअपीलकी।इसअवसरपरविजयशर्मा,दिनेशकेसर,कुलभूषणभट्ट,संजयकुमार,अमितदूबेवमोहनलालसहितअन्यमौजूदथे।

वहीं,अस्थायीकर्मचारियोंकीइसकामछोड़हड़तालकीवजहसेशहरमेंअगलेतीनदिनोंतकजलसंकटसेलोगोंकोजूझनापड़ेगा।हालांकिजलशक्तिविभागनियमितकर्मचारियोंकीमददसेजलापूर्तिकरनेकीतैयारीकरचुकाहै।विभागकेएक्सईएनताजचौधरीनेकहाकिविभागकेपासकरीब350स्थायीकर्मचारीहैं।इनकीमददसेजिलेमेंजलापूर्तिबहालरखीजाएगी।मगरनियमितआपूर्तिसेकमसप्लाईलोगोंकोमिलसकतीहै।ज्यादासमस्याशहरीक्षेत्रमेंहोगी।क्योंकिलिफ्टपरियोजनाओंकीवजहसेइनकोसंचालितकरजलापूर्तिकरनाहोगा।ऐसेमेंशहरीइलाकोंमेंलोगोंकोअगलेतीनदिनोंतकपहलेसे50फीसदतककमआपूर्तिमिलसकतीहै।जबकिग्रामीणक्षेत्रोंमेंग्रैविटीवालीयोजनाएंहैं।जिनकोपंचायतप्रतिनिधियोंकीमददसेसंचालितकियाजाएगा।ऐसेमेंयहांपर15से25फीसदतकहीजलापूर्तिप्रभावितहोगी।अस्थायीकर्मियोंकीप्रमुखमांगें

कर्मचारियोंकाबकायावेतनजल्दजारीकियाजाए

पुरानेअस्थायीकर्मचारियोंकोनियमितकियाजाए

विभागमेंस्टाफकीकमीकोदूरकियाजाए

कर्मचारियोंकेकामकेमुताबिकपदनामदियाजाए