अभिभाषण चर्चा चार रास

चर्चामेंहिस्सालेतेहुयेअन्नाद्रमुककेएनवनीतकृष्णननेकहाकिराष्ट्रपतिकेअभिभाषणमेंकिसानोंकेहितोंकीरक्षाकेलियेसरकारकीप्रतिबद्धताकाजिक्रकियागयाहै।इसकेलियेतमिलसाहित्यकारतिरुवल्लुवरद्वारारचितपंक्तियोंकाअभिभाषणमेंजिक्रकरनेकेलियेसरकारऔरराष्ट्रपतिकेप्रतिआभारव्यक्तकिया।उन्होंनेतमिलनाडुमें11मेडिकलकालेजखोलेजानेकीकेन्द्रसरकारकीअनुशंसाकोसराहनीयपहलबताया।सपाकेजावेदअलीखाननेसरकारकीकथनीऔरकरनीमेंफर्कहोनेकाआरोपलगातेहुयेकहाकिइससमयसर्वाधिकचर्चामेंचलरहेसीएएऔरएनआरसीकेमुद्देपरसरकारकहतीकुछहैऔरकरतीकुछऔरहै।खाननेकहाकिइसीसदनमेंउन्होंनेपिछलेसत्रमेंएकपूरकप्रश्नमेंपूछाथाकिक्यासरकारकाअसमकेबाहरएनआरसीलागूकरनेकाविचारहै?उन्होंनेकहाकिइसकेजवाबमेंगृहमंत्रीनेकहाथाकिदेशमेंएकएकइंचजमीनपरएनआरसीलागूहोगाऔरघुसपैठियोंकोदेशसेबाहरकियाजायेगा।लेकिनबादमेंप्रधानमंत्रीनेदिल्लीकेरामलीलामैदानमेंएकरैलीमेंकहाकिपूरेदेशमेंएनआरसीलागूकरनेकोलेकरसरकारमेंकोईविचारतकनहींकियागयाहै।खाननेकहाकियहस्पष्टहोनाचाहियेकिसरकारकीसदनमेंकहीगयीबातमहत्वपूर्णहैयारामलीलामैदानमेंकहीगयीबातअहमहै।उन्होंनेसीएएऔरएनआरसीकेखिलाफदिल्लीसहितदेशकेअन्यहिस्सोंमेंजारीआंदोलनोंकोएकधर्मविशेषकेलोगोंऔरमहिलाओंकेआंदोलनकेरूपमेंप्रचारितकरनेपरभीआपत्तिदर्जकरायी।खाननेभाजपाऔरकेन्द्रसरकारपरसीएएकेनामपरहिंदूमुस्लिमध्रुवीकरणकरनेकीएकमात्रराजनीतिकमंशाहोनेकाआरोपलगातेहुयेकहाकिइनआंदोलनोंकीमांगसीएएमेंधार्मिकभेदभावखत्मकरनामात्रहै।तृणमूलकांग्रेसकेसुखेन्दुशेखररायनेचर्चामेंभागलेतेहुएमोदीसरकारपरराष्ट्रीयमुद्दोंकोलेकरसंसदऔरजनताकेबीचअलगअलगबातकहनेकाआरोपलगाया।उन्होंनेसीएएऔरएनआरसीकेमामलेमेंसरकारपरसंसदमेंकुछकहनेऔरसंसदकेबाहरबिल्कुलविपरीतबातकहनेकाआरोपलगातेहुएदावाकियाकिसरकार‘‘दशाननरवैयाअपनारहीहै।’’उन्होंनेसरकारद्वारासार्वजनिकक्षेत्रकेलाभकारीउपक्रमोंकोबेचनेकेकेलिएविभिन्नकदमउठायेजानेकाजिक्रकरतेहुएमोदीसरकारको‘‘बिकाऊसरकार’’करारदिया।इसबीचअल्पसंख्यकमामलोंकेमंत्रीमुख्तारअब्बासनकवीनेतृणमूलकांग्रेसकेसुखेन्दुशेखररायद्वाराकेन्द्रसरकारकोदशाननसरकारऔरबिकाऊसरकारकहनेपरआपत्तिदर्जकरातेहुयेउपसभापतिसेइनशब्दोंकोसदनकीकार्यवाहीसेहटानेकीमांगकी।उपसभापतिनेकहाकिइसपरविचारकरनेकेबादहीकोईफैसलाकियाजायेगा।चर्चामेंहिस्सालेतेहुयेबीजदकेप्रसन्नआचार्यनेकहाकिराष्ट्रपतिकाअभिभाषणऐसेसमयमेंहुआजबकिपूरादेशअशांतिकेदौरसेगुजररहाहै।उन्होंनेकहाकियहभीदुर्भाग्यपूर्णहैकिअशांतिकेसमयहीदेश150वींगांधीजयंतीमनारहाहै।आचार्यनेकहाकिराष्ट्रपतिकेअभिभाषणमेंदेशकेबेहतरभविष्यकेलियेअपनेदेशमेंहीबनीवस्तुओंकेउपभोगकोबढ़ावादेनेकीबातकहीगयीहै।उन्होंनेकहाकिइसकेलियेस्थानीयस्तरपरवस्तुओंकाउत्पादनभीकियाजानाजरूरीहै,जबकिहालतयहहैकिसार्वजनिकउपक्रमोंकोबेचाजारहाहै।जदयूकेआरसीपीसिंहनेराष्ट्रपतिकेअभिभाषणमेंजलजीवनमिशनकोप्राथमिकतासेचलानेकीसरकारकीपहलकोस्वागतयोग्यबताया।उन्होंनेबिहारसरकारकीतर्जपरइसअभियानकोहरियालीसेभीजोड़नेकासुझावदिया।सीएएऔरएनआरसीकेमामलेमेंसिंहनेविपक्षपरआंदोलनकोभड़कानेकाआरोपलगातेहुएकहा,‘‘हमसभीकादायित्वहैकिसंसदद्वारापारितकानूनकेबारेमेंभ्रमफैलानेकेबजायभ्रमोंकानिवारणकरें।’’