Analysis: कांग्रेस पार्टी का आत्‍मघाती रवैया, राहुल गांधी को उठाना पड़ा बड़ा खामियाजा

[अवधेशकुमार]।कांग्रेससंसदीयदलकीबैठकसेबाहरआईखबरेंकेवलकांग्रेसकेलिएनहीं,भारतीयलोकतंत्रकेभविष्यकीदृष्टिसेभीचिंतापैदाकरनेवालीहै।देशमेंसबसेज्यादासमयतकशासनकरनेवालीपार्टीदोकरारीपराजयकेबादभीयातोयहसमझनहींरहीयासमझनेकेलिएतैयारनहींकिइसदुर्दशाकेलिएउसकास्वयंकाविचारऔरव्यवहारजिम्मेदारहै।राहुलगांधीकायहकहनाकिहम52लोगभाजपासेलड़नेकेलिएकाफीहैं,कामतलबयहीहैकिकांग्रेसनरेंद्रमोदीसरकारसेकेवलटकरावकीरणनीतिअपनाएगी।संसदकाटकरावकेवलवहींतकसीमितनहींरहता,उसकाअसरदेशकेपूरेराजनीतिकमाहौलपरपड़ताहै।

16वींलोकसभाकेकार्यकालमेंपहलेएकवर्षकोछोड़देंतोकांग्रेसलगातारसरकारसेमोर्चाबंदीकरतीरही।इससेउसेकोईराजनीतिकलाभनहींहुआ।इसकेबावजूदयदिवहउससेज्यादातीखीलड़ाईकीरणनीतिअपनारहीहैतोफिरइसकेउल्टेपरिणामहोंगे।संघर्षकेलिएराहुलगांधीनेजिससिद्धांतकोआधारबनायावहकहींज्यादाचिंताजनकहै।उन्होंनेमोदीसरकारकोब्रिटिशसरकारसाबितकरदिया।इसआपत्तिजनकविशेषणकेलिएशब्दतलाशनामुश्किलहै।उनसेयहतोपूछाहीजासकताहैकिभारतकेमतदाताओंद्वारासंवैधानिकप्रक्रियाकेतहतनिर्वाचितकिसीसरकारकोआपब्रिटिशसरकारकैसेकहसकतेहैं?क्यामोदीसरकारनेब्रिटिशईस्टइंडियाकंपनीकीतरहबाहरसेआकरदेशपरकब्जाकरकेहमेंगुलामबनायाहै?

अगरऐसीगुलामीहोतीतोसोनियागांधीऔरराहुलगांधीसंसदीयसौंधमेंनअपनेसंसदीयदलकीबैठककरपातेऔरनहीवेइतनेआक्रामकढंगसेसरकारकेखिलाफबोलपाते।वेकहरहेहैंकिसंविधानकी,संस्थाओंकीरक्षाकेलिएहमेंलड़नाहै।यहीबातवेपूरेचुनावअभियानमेंबोलतेरहे।अबउनकाकहनाहैकिहमेंपहलेसेज्यादाआक्रामकहोनाहैतथाजोरसेबोलनाहै।वेकहतेहैंकिजिसढंगसेब्रिटिशकालमेंहमेंकिसीसंस्थासेकोईमददनहींमिलीफिरभी हमजीते,उसीतरहहमेंकिसीसंस्थाकीमददनहींमिलेगी,लेकिनहमजीतेंगे।पार्टीनेतृत्वकीयहसोचसाफकररहीहैकिवहदिशाभ्रमकाशिकारहैऔरआनेवालेसमयमेंउसकीभूमिकासकारात्मकविपक्षकीनहींहोगी।

राहुलगांधीनेस्वयंचुनावपरिणामकेबादकहाथाकिउनकीपार्टीसकारात्मकविपक्षकीभूमिकानिभाएगी।इससेएकउम्मीदबंधीथीकिकांग्रेसजनताद्वारानकारेजानेकेबादअपनेविचारऔरव्यवहारमेंशायदपरिवर्तनकरनेकेलिएतैयारहोरहीहै।प्रश्नहैकिइतनेहीदिनोंमेंऐसाक्याहोगयाकिसोचऔरतेवरपूरीतरहबदलगए?शायदराहुलगांधीएवंसोनियागांधीकेरणनीतिकारोंनेयहसमझायाहैकिअगरमोदीसरकारकेप्रतिविनम्रऔरसहयोगीरहे तोकार्यकर्ताओंऔरसमर्थकोंकेबीचनिराशाकासंदेशजाएगा।यहसमयउनकोयहविश्वासदिलानेकाहैकिहमचुनावजरूरहारेहैं,परलड़नेकामाद्दानहींखोयाहै।कांग्रेसकेलिएकार्यकर्ताओंऔरसमर्थकोंकाआत्मविश्वासबनाएरखनाजरूरीहै,लेकिनएकतिलमिलाईहुईसंतुलनखोचुकीपार्टीकाचरित्रग्रहण करनातोनुकसानहीपहुंचाएगा।कांग्रेसकेजोविवेकशीलकार्यकर्तावसमर्थकहैंवोभीइससेसहमतनहींहोंगेकिमोदीसरकारब्रिटिशसरकारहैजिसनेहमकोगुलामबनालियाहैऔरसंविधानकोनष्टकरसंस्थाओंकागलादबादियाहै।

यहभीनहींभूलनाचाहिएकिलड़नेकीएकसीमाहोतीहै।कोईराजनीतिकदलसततलड़तेनहींरहसकता।आक्रामकहोनेकीएकसीमाहोगी।इसमेंआपथकजाएंगेऔरपार्टीकोसंगठितकरने,खोएसमर्थनआधारपानेकेलिएकामकरनेकीशक्तिऔरसमयनहींबचेगा।उल्टेऐसेव्यवहारसेमोदीऔरभाजपाकेसमर्थकज्यादासंगठितहोंगे।कांग्रेसकेलिएयहरणनीतिआत्मविनाशकसाबितहोगी।कांग्रेसकार्यसमितिकीबैठककेअंदरसेजितनीखबरआईथीउसकेअनुसारराहुलनेकईनेताओंकोगुस्सेकानिशानाबनाया।

तीनराज्योंकेमुख्यमंत्रियोंसहितकईराज्योंकेअध्यक्षोंद्वारादिएगएगलतफीडबैकपरउन्होंनेप्रश्नकिया।यहांतककहाकिकुछबड़ेनेताओंनेअपनेबेटेकोटिकटदेनेकादबावबनायाऔरअपनाज्यादासमयउसेजितानेकेलिएलगाया।अगरराहुलगांधीकोअपनीपार्टीनेताओंकेचरित्रकापहलेसेपतानहींथातोयहीमानाजाएगाकिवेकांग्रेसकेअध्यक्षहैंहीनहीं।प्रियंकावाड्रानेतोबैठकमेंयहांतककहदियाकिकांग्रेसकेहत्यारेइसीकमरेमेंबैठेहैं।राहुलऔरप्रियंकायहक्योंनहींसोचतेकिजनतानेउनकीअपीलऔरआक्रामकताकोक्योंनकारदिया?

बहरहालकांग्रेसअध्यक्षकेपदसेराहुलगांधीनेइस्तीफादेनेकाप्रस्तावदियाजिसेकांग्रेसकार्यसमितिनेअस्वीकारकिया,परवेअड़ेरहे।पतानहींउनकेमनमेंअभीक्याहै?इसीबीचसोनियागांधीकापत्रसार्वजनिकहुआजिसमेंउन्होंनेराहुलगांधीकेनेतृत्वकीप्रशंसाकरतेहुएकहाकिवेनिडरतापूर्वकलड़ेहैं।कठिनसमयमेंअच्छानेतृत्वदियापार्टीको।साफहैकियहपत्ररणनीतिकेतहतलिखागया।पार्टीदुर्दशाकाशिकारहुईहैतोउसकीमूलजिम्मेदारीअध्यक्षकेनातेराहुलकेसिरहीआतीहै।सारीरणनीतियांउनकेनेतृत्वमेंबनी।घोषणापत्रमेंभीउनकीसहमतिरहीहोगी।संभवहैराहुलअध्यक्षभीबनेरहें।वैसे राहुलअध्यक्षरहेंयाकोईऔर,कांग्रेसउसस्थितिमेंनहींकिपरिवारकेनियंत्रणसेबाहरजाए।

आखिरसोनियागांधीकोसंसदीयदलकाअध्यक्षबनाहीदियागया।पार्टीकानेतृत्वपरिवारकेहीईर्द-गिर्दरहेगातोनईदिशासेकुछहोपानासंभवनहींहैचाहेजोकवायदकीजाए।इनसबघटनाओंकोसाथमिलाकरदेखेंतोकईनिष्कर्षआताहै।एक,राहुलगांधीअमेठीमेंअपनीपराजयकेआघातसेउबरनहींपा रहेहैं।दो,कांग्रेसअभीतकयहसमझनहींपारहीहैकिकेरलऔरपंजाबकोछोड़करउसकीइतनीबुरीपराजयक्योंहुई?तीन,जिसमोदीऔरभाजपाकोवेअलोकप्रियमानचुकेथेउसेइतनाबड़ाबहुमतकहांसेप्राप्तहोगया?चार,राहुलऔरप्रियंकाकीअपीलोंवआक्रामकताकाअसरक्योंनहींहुआ?पांच,उसकेसाथसहयोगीदलोंकोभीजनतानेक्योंनकारदिया?औरउन्हेंइसप्रश्नकाउत्तरनहींमिलरहाकिआखिरराष्ट्रीयस्तरपरकांग्रेसकादुर्दिनखत्मक्योंनहींहोरहा?यहऐसाप्रश्नहैजिसकाउत्तरमिलनातभीसंभवहोगाजबसोनियागांधी,राहुलऔरउनकीसलाहकारमंडलीभीसचकोदेखसकें।इससेइतररास्ते सेकांग्रेसकेवलअपनानुकसानकरेगीऔरचूंकिभाजपाकेबादवहीएकमात्रराष्ट्रीयपार्टीहै,इसलिएलोकतंत्रभीइससेबुरीतरहप्रभावितहोगा।काशकांग्रेसकोसुबुद्धिआएऔरवहअपनीनीति-रीतिवनेतृत्वकीभूलोंकोसमझकरआंतरिकसुधारकीदिशामेंआगेबढ़ेऔरआत्मविनाशसेस्वयंकोबचासके।इससमयकीअवस्थादेखतेहुएतोलगतानहींकिकांग्रेसकोसुबुद्धिमिलनेवालीहै।

[वरिष्ठपत्रकार]

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप