अफसरों की अनदेखी से मैली हो रही है गंगा

अशरफचौधरी,गढ़मुक्तेश्वर

अफसरोंकीअनदेखीसेगंगामैलीहोरहीहै,क्योंकिआबादीकागंदापानीसीवरलाइनसेहोकरनालेमेंडलरहाहै,जोगंगामेंगिरकरकेंद्रसरकारकीमंशाकोठेंगादिखारहाहै।

नगरमेंकरोड़ोंरुपयेकीलागतवालीएसटीपीयोजनादससालबादभीगढ़-ब्रजघाटमेंपूरीतरहपरवाननहींचढ़पाईहै,क्योंकिगढ़औरब्रजघाटकेसीवरट्रीटमेंटप्लांटयोजनाचालूहोनेकेपश्चातभीघरेलूकनेक्शनोंकोसीवरलाइनसेजोड़नेकाकामअधरमेंअटकाहोनेसेआबादीकालाखोंलीटरपानीशुद्धहुएबिनाहीगंगामेंगिरकरकेंद्रसरकारकीचलाईजारहीनमामिगंगेजैसीयोजनाओंकीमंशाकीधड़ल्लेसेधज्जियांउड़ाईजारहीहै।जिसमेंअधिकारियोंकीअनदेखीसबसेप्रमुखकारणबनीहुईहै,इसीकेचलतेगंगामेंदूषितपानीगिररहाहै।

नियमोंकेअनुसारआबादीकागंदापानीसीवरलाइनकेमाध्यमसेट्रीटमेंटप्लांटमेंपहुंचनाअनिवार्यहै,जोवहांसाफसुथराहोनेकेबादहीगंगामेंडलनाचाहिए।परंतुअधिकारीनियमोंकीअनदेखीकररहेहैं।अधिकारियोंनेपिछलेसालगंगाकीऔरजानेवालेनगरकेएकनालेकोबंदकरादियाथा।लेकिनपिछलेकईमाहसेयहनालाटूटापड़ाहैऔरगंदापानीगंगामेंजारहाहै।-----------

क्याकहतेहैअधिकारीइससंबंधमेंजानकारीनहींहै।अगरनालाटूटगयाहैतोसंबंधितविभागकेअधिकारियोंकीटीमकोभेजाजाएगाऔरनालेकोसहीकरायाजाएगा।गंगामेंदूषितपानीनहींडालनेदियाजाएगा।

-अरविदद्विवेदी,एसडीएम