अरावली की प्यासी धरती के लिए बनाए तालाब

प्रवीनकौशिक,फरीदाबाद

फरीदाबाद-गुरुग्रामसमेतदिल्लीकोशुद्धआक्सीजनदेनेवालीअरावलीपर्वतमालामेंबरसातीपानीसंजोने,जलस्तरबढ़ानेऔरहजारोंजीव-जंतुओंकीप्यासबुझानेकेउद्देश्यसेयुवाओंकीटोलीआगेआईहै।इनकाजज्बादेखियेकिबिनाशासन-प्रशासनकीमददलिएपहाड़में10तालाबकीखोदाईकरडाली।हालांकिखोदाईकेलिएवनविभागसेअनुमतिलीहै।आजसभीतालाबपानीसेलबालबहैं।कुछमेंबरसातीपानीहैतोकुछकोयुवाटैंकरमंगाकरभरतेहैं।इससालतीनऔरतालाबखोदनेकीयोजनाहै।कोशिशहैकिअरावलीवइसकीतलहटीमेंबसेहुएगांवमेंअगलेकुछसालोंमेंसैकड़ोंतालाबपानीसेलबालबदिखाईदें।चंदाजुटाकरजुटतेहैंकाममें

सेवअरावलीकेबैनरतलेयुवाओंकीटोलीकरीबएकदशकसेपर्यावरणसंरक्षणमेंजुटीहै।अबहरकामकेलिएपैसेकीजरूरतहोतीहैतोभीयुवाइसकेलिएभीपीछेनहींहटते।जबभीपैसेकीजरूरतहोतीहैतोसेवअरावलीकेवाट्सएपग्रुपपरकेवलएकसंदेशडालदियाजाताहैऔरफिरशुरूहोजाताहै100सेलेकर500रुपयेतकसहयोगदेनेकासिलसिला।मिनटोंमेंआनलाइनपैसेट्रांसफरभीहोजातेहैं।इसकेबादकामकोअंजामदियाजाताहै।जलहैतोकलहै

सेवअरावलीकेसंस्थापकजितेंद्रभडानाऔरकैलाशबिधुड़ीबतातेहैंकिजलहैतोकलहै।बसयहीबातसभीकोसमझनीहोगी।अरावलीऔरतलहटीमेंबसेहुएगांवमेंजलस्तरबरकराररहनेकासबसेबड़ाजरियाबड़खलझीलसूखचुकीहै।यहीकारणहैकि250से350फुटनीचेतकजलस्तरपहुंचरहाहै।दूसराअरावलीमेंहजारोंजीव-जंतुपानीकीतलाशमेंरिहायशीक्षेत्रोंकीओरबढ़तेहैं।कईबारसड़कहादसेमेंजानजाचुकीहैं।इसकेअलावाहरबारपहाड़मेंबारिशकापानीव्यर्थबहजाताहै।इसपानीकोसंजोनेकेलिएपहाड़केनिचलेइलाकोंमेंतालाबबनाएगएहैं,ताकियहांपानीसुरक्षितरहसके।

कुछएकतालाबऐसेहैंजहांहरमहीनेटैंकरोंसेपानीभराजाताहै।बिधुड़ीकेअनुसारअनंगपुरऔरअनखीरकेपहाड़में4-4,पालीमेंदोतालाबपानीसेलबालबहैं।जबकिबंधवाड़ी,अनखीरऔरभांखरी-बड़खलमेंएक-एकतालाबकीखोदाईकीजानीहै।अनखीरगांवमेंएकऔरतालाबकब्जामुक्तकराकरइसकीभीखोदाईकीजाएगी।एकतालाबकीखोदाईमें30से35हजाररुपयेखर्चाआताहै।बिधुड़ीबतातेहैंकिउनकीटीममेंसंजयरावबागुल,विकासथरेजा,मीनाक्षीशर्मा,जितेंद्र,रमेशअग्रवाल,शुचिताखन्नासहितअन्यकाफीसदस्यपर्यावरणसंरक्षणमेंजुटेहैंऔरउनकायहप्रयासजारीरहेगा।