अस्पताल परिसर में पानी के लिए भटकते मरीज और परिजन

बेतिया।नरकटियागंजअनुमंडलअस्पतालपरिसरमेंपानीकीसमस्यासेमरीजपरेशानरहतेहैं।अस्पतालकेअंदरप्रसवकक्षकेपासआरओतोलगादियागयामगरउसकालाभसुदूरगांवसेपहुंचनेवालेअधिकांशबुजुर्गमहिलावपुरुषोंकोनहींमिलता।ऐसेमरीजोंवउनकेपरिजनोंकोतोआरओकामतलबभीनहींमालूम।वेबाहरपरिसरमेंचापाकलढूंढतेरहतेहैं।इतनाहीनहींमवेशियोंकेगोबरलगेपांवहोयाकिसीअन्यकारणोंसेगंदाहाथपैरधोनेकेलिएमरीजवउनकेपरिजनतबऔरअधिकपरेशानहोतेहैं।जबउन्हेंचापाकलसेपानीनहींमिलता।आरओएककमरेकेअन्दरऔरदूसराप्रसवकक्षकेसामनेलगेहोनेकेबावजूदकईमरीजोंकोउसकापतानहींहोताकियहशुद्धपानीदेनेवालामशीनहै।अस्पतालमेंपहुंचेमरीजकेपरिजनबुढ़वाचंपापुरनिवासीपूनमदेवीऔरनोनियाटोलागांवनिवासीरंभादेवीनेबतायाचापाकलहै।मगरसूखाहुआहै।इसकारणपीनेकापानीबाहरसेपानीलानापड़ाहै।धूमनगरनिवासीछोटीकुमारीनेबतायाकिअस्पतालमेंपेयजलकीकिल्लतहै।जबप्यासलगीऔरकर्मियोंसेपूछातोउन्होंनेबतायाभीतरआरओलगाहै।काफीढूंढनेकेबादप्रसवकक्षकेसमीपलगेआरओसेपानीमिला।पुरैनियानिवासीराजूकुमारऔरपुरानीबाजारनिवासीआसिफइकबालनेबतायाकिअस्पतालप्रबंधनकोपेयजलकीव्यवस्थाऐसीजगहपरकरनीचाहिए,जहांसभीकोआसानीसेपानीमिलजाए।भीतरलगनेकेकारणसभीकोकाफीढूंढनापड़ताहै।

मरीजोंऔरउनकेपरिजनोंकेलिएअस्पतालमेंदोआरओकीव्यवस्थाकीगईहै।परिसरमेंखराबपड़ेचापाकलकोभीजल्दहीठीककरादियाजाएगा।

प्रभारीचिकित्सापदाधिकारी,नरकटियागंज