बाघ पकड़ने के लिए मवेशी बांधकर लगाए दो पिंजरे

संवादसहयोगी,अमृतपुर(फर्रुखाबाद):उदयपुरकंचनपुरगांवमेंदसदिनसेठिकानाबनाएबाघकीदहशतकैमरोंमेंउसकीतस्वीरकैदहोनेकेबादसेऔरबढ़गईहै।शुक्रवाररातभीनजारारहाकिजब-जबबाघकीदहाड़गूंजी,डरकेमारेग्रामीणसिहरउठे।घरोंमेंहीग्रामीणदुबकेहैं।उधर,वनविभागकेअधिकारीबाघपकड़नेकेलिएशनिवारदोपहरतकरणनीतिपरमाथापच्चीकरतेरहे।इसकेबाददोघंटेतकविभागकीटीमनेकांबिंगभीकी,मगरबाघकापतानहींचला।कानपुरसेआकरवन्यजीवचिकित्सकडॉ.आरकेसिंहपहलेसेयहांकैंपकररहेहैं,अबदुधवानेशनलपार्कसेडॉ.दयाशंकरभीपहुंचगए।पीलीभीतटाइगररिजर्वसेतीनसदस्यीयविशेषटीमभीपिंजरालेकरआई।दोस्थानोंपरमवेशीबांधपिंजरेलगाएगएहैं।

वनविभागकेनाइटविजनकैमरेमेंबाघकीतस्वीरआनेकेबादउसकोपकड़नेकीकवायदतेजहै।प्रधानमुख्यवनसंरक्षकसुनीलकुमारपांडेयनेमुख्यवनसंरक्षणअधिकारीकेकेसिंह,डॉ.आरकेसिंहकेसाथशनिवारकोमौकेपरपहुंचजांचकी।कईकैमरोंमेंबाघकेफुटेजमिलेहैं।दुधवा,लखीमपुरकेडॉ.दयाशंकरऔरपीलीभीतसेआईवाइल्डलाइफट्रस्टआफइंडिया(डब्ल्यूटीआइ)कीटीमनेभीग्रामीणोंसेजानकारीली।बाघकोफंसानेकेलिएजालभीमंगाएगएहैं।गांवकेपश्चिममेंदोपिंजरेलगाएगएहैं,जहांबाघशिकारकरचुकाहै।बतादें,दसपहलेउसेएकगायकाशिकारकियाथाजबकितीनपहलेसूअरका।डीएफओपीकेउपाध्यायनेबतायाकिकैमरेकेफुटेजमेंरातमेंहीबाघदिखाईदियाहै।बाघकेमूवमेंटपरनजररखीजारहीहै।सभीटीमेंमुस्तैदहैं।

ग्रामीणोंकोदिएमुखौटे

वनविभागकीओरसेग्रामीणोंकोमुखौटेभीवितरितकिएगएहैं।खेतोंमेंकामकरनेकेसमययेमुखौटेकीपहननेकीसलाहदीगई।विभागकेमुताबिकमुखौटेसेडरकरबाघहमलाकरनेसेहिचकेगा।