बाइक बोट घोटाल: कंपनी के तीन निदेशक गिरफ्तार,अब तक 46 एफआइआर

नोएडा,एबीपीगंगा।गर्वितइनोवेटिवप्रमोटर्सलिमिटेडनामककंपनीकेबाइकबोटघोटालेमामलेमेंआरोपीकंपनीकेतीनएडिशनलडायरेक्टरकोतीनथानोंकीपुलिसनेमिलकरगिरफ्तारकियाहै।यहआरोपीबीतेदोमाहसेपुलिसकीनजरोंमेंधूलझोंकरहाथी।इसेपकड़नेमेंथानाफेज-दो,फेज-तीनऔरसूरजपुरथानेकीपुलिसशामिलरही।इसकंपनीकेखिलाफअबतक46मामलेदर्जकियेगयेहैंऔरइसघोटालेकीजांचकेलिएएसआईटीकागठनकियागयाहै।

पुलिसकीगिरफ्तमेंआयेहरीशकुमार,राजेशसिंहयादवऔरविशालकुमारगर्वितइनोवेटिवप्रमोटर्सलिमिटेडनामककंपनीकेएडिशनलडायरेक्टरऔरबाइकबोटघोटालेमामलेमेंआरोपीहैंइसमेंहजारोंनिवेशकोंसेकरोड़ोंरुपयेकीठगीकीगईथी।इसमामलेमेंअबतककुल46मुकदमेदर्जकिएगएहैं।दोमाहपहलेइसमामलेकीजांचकेलिएएसआईटीकागठनकियागयाथा।उन्होंनेबतायाकिसूचनाकेआधारपरथानाफेज-2,थानाफेज-3औरसूरजपुरथानेकीपुलिसनेसंयुक्तकार्रवाईकरकंपनीकेतीनएडिशनलडायरेक्टरोंकोगिरफ्तारकियाहै।

एसएसपीवैभवकृष्णनेबतायाकिगिरफ्तारअभियुक्तहरीशकुमारनेपूछताछकेदौरानबतायाकिवहइससेपहलेसेनामेंहवलदारकेपदपरनियुक्तथा।अप्रैल2017मेंरिटायरहोनेकेबादअगस्त-2017सेगर्वितइनोवेटिवप्रमोटर्सलिमिटेडकेसाथकार्यकररहाहै।राजेशसिंहयादवपूर्वमेंआयुर्वेदिकमेडिसिनडिस्ट्रीब्यूशनकाकामकरताथा।वर्ष2017सेगर्वितइनोवेटिवप्रमोटरप्राइवेटलिमिटेडमेंकार्यकररहाहै।विशालइससेपहलेआयुर्वेदिककम्पनीआईएमसीमेंमेडिसिनडिस्ट्रीब्यूशनकाकामकरताथा।साल2017सेगर्वितइनोवेटिवप्रमोटर्सलिमिटेडमेंकार्यकररहाहै।वहकम्पनीमेंएडिशनलडायरेक्टरकेपदपरभीकार्यरतरहाहै।तीनोंकोलाखोंरुपएकमीशनकेसाथएसयूवीगाड़ियामिलीहुईथीं।

बाइकबोटस्कैममेंएसआईटीकीजांचसेकईहजारकरोड़कीठगीकाहोनापायागयाहै।इसमामलेमेंअबतकपांचअभियुक्तोंकोजेलभेजागयाहै।इसमेंघोटालेकामुख्यआरोपीसंजयभाटीभीशामिलहै।एसआईटीनेअबतकआठेअभियुक्तोंकीगिरफ्तारीकीहै।इसमेंएकअभियुक्तनेकोर्टमेंआत्मसमर्पणकियागयाहै।इसमामलेमेंअभी12आरोपीवांछितहैं,जिनकीगिरफ्तारीपर25हजाररुपयेकाइनामघोषितकियागयाहै।इसप्रकरणमेंअबतक18बैंकखातेफ्रीजकराएगयेहैं।जिसमेंविभिन्नकम्पनियोंवव्यक्तियोंसेलगभग3से4हजारकरोड़काट्रान्जेक्शनकियागयाहै।जांचकररहीटीमनेअबतक35चारपहियालग्जरीकारेंबरामदकीगईहैं।इनकारोंकीअनुमानितमूल्यलगभग8.25करोड़रुपयेहै।इसकेअलावा104दोपहियावाहनबरामदकिएगएहैं,जिनकामूल्यलगभग50लाखरूपयेआंकागयाहै।