बांसी नदी उफनाई, खेत व सड़कें जलमग्न

कुशीनगर:डेढ़माहसेलगातारकीवजहसेबांसीनदीउफनागईहै।बाढ़केपानीसेसैकड़ोंएकड़धानवगन्नेकीफसलडूबगईहै।पिचसड़कोंपरडेढ़फीटतकपानीबहनेकेकारणगिट्टियांउखड़रहीहैं।

तमकुहीरोडसेबरवापट्टीजानेवालाटीबीमार्गबिदटोलीकेसामनेकटजानेसेवाहनोंकाआवागमनबाधितहै।पैदलकिसीतरहलोगआजारहेहैं।क्षेत्रमेंअफरा-तफरीकामाहौलहै।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिवर्ष2002मेंभीबांसीनदीमेंबाढ़आईथी।उससमयबहुततबाहीमचीथी।लोगोंनेप्रशासनसेतत्कालमददकीगुहारलगाईहै।एसडीएमएआरफारुकीनेकहाकिलगातारबारिशकेचलतेथोड़ीदिक्कतहोरहीहै।बरसातबादसड़ककोठीककरादियाजाएगा।

खतरेकेनिशानसे30सेमीनीचेआईनारायणी

सेवरही:वाल्मीकिनगरबैराजसेरविवारकीसुबहडिस्चार्जघटकर1.61लाखक्यूसेकपरपहुंचगया।इससेनारायणीकेजलस्तरमेंगिरावटदर्जकीगई।जलस्तरखतरेकेनिशान76.20मीटरसे30सेमीनीचेआगया।नदीपरिक्षेत्रकेनिचलेइलाकोंसेभीबाढ़कापानीउतरनेलगाहै।हालांकिअभीभीकईलोगोंकेमकानपानीसेघिरेहुएहैं।एपीबांधकेकिमी0.800जंगलीपट्टीकेसामने,किमी1300.00बाघाचौरवकिमी1400.00अहिरौलीदानमेंदबावबरकरारहै।अहिरौलीदानकेडीहटोलामेंराजनाथसिंहकेघरमेंकमरतकबाढ़कापानीघुसाहुआहै।बाढ़खंडकेएसडीओएसकेप्रियदर्शीनेबतायाकिबांधपूरीतरहसुरक्षितहै,मॉनीटरिगकीजारहीहै।