बारिश के पानी में डूबे मोहल्ले, सरकारी कार्यालयों की हालत बदतर

जागरणसंवाददाता,बलिया:नगरकीपानीनिकासीकीव्यवस्थाचरमरागईहै।इसकेलिएतीनसालसेनतोप्रशासननेकोईठोसउपायकियाऔरनहीसमस्यापरजनप्रतिनिधियोंनेहीकोईरुचिली।मोहल्लेतोछोड़िएअधिकारीवकर्मचारीभीइसकीचपेटमेंआगएहैं।अबलोगोंकेबीचयहचर्चाहोनेलगीहैकिपहलेवहअपनीजलनिकासीकीव्यवस्थाकरेंगेकिजनताकी।

हालतयहहैकिपुलिसआवासोंमेंपानीघुसनेलगाहै।पुलिसकार्यालय,पुलिसलाइन,स्टेडियम,माडलतहसीलवजेलमेंपहलेसेहीजलजमावकीचपेटमेंहैं।अबपानीनएइलाकोंकीतलाशकरतेहुएकईअन्यपुलिसआवसीयक्षेत्रकोअपनीचपेटमेंलेलियाहै।शहरकेकाजीपुरा,आवासविकासकालोनी,हरिपुर,रामदहिमपुरम,जेपीनगर,सतनीसराय,बेदुआआदिकीहालतपहलेसेहीखराबहै।इनमोहल्लोंकीजनताकोनगरपालिकापरिषदनेउनकेहालपरछोड़दियाहै।

बीमारीफैलनेकाखतरा:लंबेसमयतकजलजमावहोनेसेबीमारीफैलनेकाभीखतराबनाहुआहै।इसकोलेकरलोगपूरीतरहसेसंशकितहै।इधरडेगूववायरलबुखारनेलोगोंकीचिताबढ़ादीहै।लोगगंदीपानीकेबीचरहनेवआने-जानेकोमजबूरहोगएहै।

नालोंकानिर्माणचलरहाहै।पंपसेनालियोंकोपानीनिकालाजारहाहै।पानीनिकासीकेलिएप्लानतैयारकियागयाहै।जल्दहीइससमस्यासेनिजातमिलजाएगी।

-दिनेशकुमारविश्वकर्मा,अधिशासीअधिकारी,नगरपालिकापरिषद।