Bengal Politics: बंगाल में खुद को फिर से मुख्य विरोधी दल के रूप में स्थापित करने की कोशिश में वाममोर्चा

राज्यब्यूरो,कोलकाता।बंगालविधानसभाचुनावकेबादहुएनगरनिकायोंकेचुनावोंवविधानसभावलोकसभाउपचुनावोंमेंभाजपाकीकरारीहारऔरउनकेनेताओंकेएक-एककरतृणमूलकांग्रेसमेंजानेकोवाममोर्चाअपनेलिएबड़ेमौकेकेतौरपरदेखरहाहै।वहखुदकोफिरसेमुख्यविरोधीदलकेरूपमेंस्थापितकरनेकीरणनीतितैयारकररहीहै।

गौरतलबहैकिपिछलेसालहुएबंगालविधानसभाचुनावकेबादसेमुकुलराय,सब्यसाचीदत्ता,राजीवबनर्जी,बाबुलसुप्रियोअर्जुनसिंहसमेतकईनेताभाजपाछोड़करतृणमूलमेंचलेगएहैं।इनमेंसेज्यादातरकीघरवापसीहुईहै।यहदेखतेहुएवाममोर्चाबंगालमेंखोईअपनीसियासीजमीनफिरसेपानेकीकोशिशमेंजुटगयाहै।वाममोर्चाइसबाबतकांग्रेसकोभीअपनेसाथलेनेकीकोशिशकररहाहै,हालांकिकांग्रेसकीओरसेअबतककोईप्रतिक्रियाजाहिरनहींकीगईहै।

सूत्रोंसेमिलीजानकारीकेअनुसारहालमेंइसेलेकरवाममोर्चाकेचेयरमैनविमानबोसनेकांग्रेसकेराज्यसभासदस्यप्रदीपभट्टाचार्यसेबातचीतकीथी।उन्होंनेभट्टाचार्यसेकहाथाकिबीरभूमनरसंहारकांड,अनीसखानहत्याकांड,एसएससीशिक्षकनियुक्तिघोटालेसमेतऐसेकईमामलेहैं,जिनमेंसंयुक्तरुपसेआंदोलनकियाजासकताहै।इनआंदोलनोंकीबदौलतजनतासेफिरसेजुड़ाजासकेगा।

गौरतलबहैकिबंगालविधानसभाचुनावमेंकरारीशिकस्तकेबादसेहीवामदलवकांग्रेसनेअपनीराहेंअलगकरलीथीदोनोंनेसाथमिलकरपिछलाविधानसभाचुनावलड़ाथाऔरएकभीसीटनहींजीतपाईथी।विधानसभाचुनावकेबादवामदलोंनेनगरनिकायोंकाचुनाववविधानसभावहलोकसभाउपचुनावअकेलेलड़ाथा।जीतनहींमिलपानेपरभीउसकाप्रदर्शनकांग्रेसवभाजपाकीतुलनामेंअच्छारहा।इससेवहकाफीउत्साहितहै,हालांकिउसेमालूमहैकिबंगालमेंसत्तारूढ़तृणमूलकांग्रेसकासामनाकरनेकेलिएउसेअभीभीकांग्रेसकेसाथकीजरूरतपड़ेगी।