भारत में कोरोना वायरस के एक दिन में सर्वाधिक मामले सामने आए

नयीदिल्ली,24अप्रैल(भाषा)भारतमेंएकदिनमेंकोरोनावायरससंक्रमणकेसबसेज्यादामामलेशुक्रवारकोसामनेआएजिनकीसंख्या1,752रहीऔरअबतककुलसंक्रमितरोगियोंकीसंख्या23,452पहुंचगयी।वहींबीमारीकेमामलेदोगुनेहोनेकीदरइससप्ताहकीशुरुआतमें7.5दिनसेसुधरकर10दिनहोगयीहै।यहजानकारीस्वास्थ्यमंत्रालयनेदी।एकअधिकारीनेकहाकिबृहस्पतिवारकीशामसेकोरोनावायरससंक्रमणकेकारण37लोगोंकीमौतहोचुकीहैऔरइसमहामारीसेमृतकोंकाआंकड़ा723परपहुंचगयाहै।उन्होंनेकहाकिअबतककरीब20.52प्रतिशतसंक्रमितरोगीइससेउबरभीचुकेहैं।राष्ट्रीयरोगनियंत्रणकेंद्रकेनिदेशकएस.के.सिंहनेदैनिकसंवाददातासम्मेलनमेंकहाकिइससमयकरीब9.45लाखसंदिग्धमामलोंपरनजररखीजारहीहै।संक्रमणकेलक्षणनजरआनेपरइनलोगोंकेनमूनेजांचकेवास्तेलियेजारहेहैं।कोविड-19परसरकारद्वाराबनायेगयेएकअधिकारप्राप्तसमूहकेअध्यक्षऔरनीतिआयोगकेसदस्यवीकेपॉलनेकहाकियदिप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेसमयपर25मार्चसेराष्ट्रव्यापीलॉकडाउनलागूकरनेकाकदमनहींउठायाहोतातोभारतमेंअबतककोविड-19केसंक्रमणकेकरीबएकलाखमामलेहोते।अधिकारियोंनेएकसंवाददातासम्मेलनमेंकहाकिदेशमेंवायरसकाप्रकोपनियंत्रणमेंहै।उन्होंनेइसकाश्रेयमजबूतनिगरानीनेटवर्क,लॉकडाउनऔरनियंत्रणकेअन्यउपायोंकोदिया।सरकारकेआंकड़ोंकेअनुसार,शुक्रवारकोदेशमेंआएकुल1,752नयेमामलोंमेंसेमहाराष्ट्रमेंसर्वाधिक778मामलेसामनेआए।इसकेबादगुजरातमेंसंक्रमणकेनयेमामलोंकीसंख्या217हैऔरमध्यप्रदेशमेंआज157रोगियोंकापताचला।इससेपहलेएकदिनमेंसर्वाधिकमामले20अप्रैलकोआएथेजबएकहीदिनमें1,540लोगसंक्रमणसेग्रस्तपायेगयेथे।भारतमेंकोरोनावायरससंक्रमणकापहलामामला30जनवरीकोपताचलाथा।पॉलनेकहाकिउनकेआकलनकेमुताबिक,कोविड-19केमामलेभारतमेंदोगुनेहोनेकीरफ्तारकोकमकरनेमेंलॉकडाउनप्रभावीरहाहै,यहदरअभीदसदिनहै।उन्होंनेकहा,‘‘21मार्चतकहरतीनदिनमेंसंक्रमणकेमामलेदोगुनेहोरहेथे।जनताकर्फ्यूलगनेकेबाद23मार्चकोमहत्वपूर्णमोड़आयातथामामलेदोगुनेहोनेकीदरबढ़करपांचदिनहोगई।तबतकहमयात्राप्रतिबंधलगाचुकेथेऔरसामाजिकदूरीकावातावरणतैयारकरचुकेथे।बीचमेंकुछगड़बड़ियांहुईंऔरहमथोड़ापिछड़गए।लेकिनछहअप्रैलसेपुन:मामलेदोगुनेहोनेकीदरमेंसुधारहुआ।’’पॉलनेभारतद्वाराजांचकेलिएअपनाईगयीरणनीतिकोभीइसकाश्रेयदिया।उन्होंनेकहाकिजांचकेमामलोंमेंवृद्धिहोनेकेबावजूदसंक्रमणकेमामलोंकाअनुपातनहींबढ़ाहै।सिंहनेकहाकिकोरोनावायरसकेखिलाफलड़ाईमेंनिगरानीअहमअस्त्ररहाहै।उन्होंनेकहा,‘‘हमनेनिगरानीव्यवस्थातबसेशुरूकरदीथीजबदेशमेंपहलामामलाभीसामनेनहींआयाथा।इसकदमनेसंक्रमणफैलनेसेरोकनेमेंमहत्वपूर्णभूमिकानिभाई।’’उन्होंनेकहा,‘‘विदेशसेसंक्रमणफैलनेसेरोकनेकेलिएअंतरराष्ट्रीयउड़ानोंपरपाबंदीलगानेसेलेकरलॉकडाउनतकचरणबद्धउपायअपनायेगयेताकिसंक्रमणकेप्रसारकीआंतरिककड़ीकोतोड़ाजासके।’’स्वास्थ्यमंत्रालयमेंसंयुक्तसचिवलवअग्रवालनेकहाकिबीते28दिनमें15जिलोंमेंकोईनयामामलानहींआयाहैजहांपहलेमामलेआएथे।उन्होंनेकहाकि23राज्योंके80जिलेऐसेहैंजिनमेंबीते14दिनमेंसंक्रमणकाकोईमामलानहींआयाहै।उन्होंनेविभिन्नराज्योंकेदौरेपरगयेकेंद्रीयदलोंकेअनुभवकेबारेमेंकहाकिइनदलोंनेअस्पतालोंकीव्यवस्थाकाजायजालिया,नियंत्रणक्षेत्रोंमेंरोकथामकीयोजनाकाअध्ययनकियाऔरराज्योंसेसंक्रमितलोगोंकेसंपर्कमेंआएलोगोंकापतालगानेकीप्रणालीमजबूतकरनेपरबातचीतकी।अग्रवालनेयहभीकहाकिकेंद्रीयस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धननेशुक्रवारकोसभीराज्योंकेस्वास्थ्यमंत्रियोंऔरस्वास्थ्यसचिवोंसेंवीडियोकॉन्फ्रेंसिंगकेजरियेबातचीतकीतथाकोविड-19केप्रबंधनकेलिएतैयारियोंऔरकार्रवाईकाजायजालिया।अग्रवालकेअनुसार,‘‘हर्षवर्धननेउनसेनिगरानी,घरघरजाकरमामलोंकापतालगाने,मामलोंकीजल्दपहचानकरनेऔरउचितक्लीनिकलप्रबंधनपरध्यानदेनेकोकहाताकिरोगियोंकोसमयपरइलाजमिलेऔरमृत्युदरकमहो।’’