भीमा कोरेगांव मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला, चार हफ्ते और नजरबंद रहेंगे पांचों वामपंथी कार्यकर्ता

नईदिल्ली।भीमाकोरेगांवहिंसाकेआरोपीपांचएक्टिविस्टकीगिरफ्तारीकेमामलेमेंहस्तक्षेपकरनेसेइनकारकरदियाहै।आपकोबतादेंकिभीमाकोरेगांवहिंसामामलेमेंएक्टिविस्टवरवराराव,अरुणफरेरा,वरनॉनगोन्साल्विस,सुधाभारद्वाजऔरगौतमनवलखाकोउनकेघरमेंनजरबंदकरकेरखागयाहै।कोर्टनेइनसभीएक्टिविस्टकेहाउसअरेस्टकोचारहफ्तेतकबढ़ानेकाभीआदेशदियाहै।इसमामलेमेंइनसभीएक्टिविस्टकोएकऔरबड़ाझटकालगाहै,सुप्रीमकोर्टनेइसमामलेमेंएसआईटीकेगठनसेभीइनकारकरदियाहै।

कोर्टनेपुणेपुलिसकोइसमामलेकीजांचकरनेकीअनुमतिभीदीहै।कोर्टनेकहाकियेसभीआरोपीराहतकेलिएट्रायलकोर्टकारुखकरसकतेहैं।कोर्टकेफैसलेकेबादवर्नानगोन्साल्विसकीपत्नीऔरवकीलसुसानअब्राहमनेखुशीजतातेहुएकहाकिहमकोर्टकेफैसलेकास्वागतकरतेहैं।उन्होंनेकहाकिकोर्टनेहमारेहस्तक्षेपकोसहीमानाहैऔरहमेचारहफ्तेकासमयदियागयाहैताकिनिचलीकोर्टमेंअपीलकरसके।हमनिसंदेहनिचलीकोर्टमेंअपीलकरेंगे।

एक्टिविस्टवरवराराव,वेरनॉनगोनसाल्विस,अरुनफरेरा,सुधाभारद्वाजऔरगौतमनवलखा30अगस्तसेघरमेंहीनजबंदहैं।इन्हेंमहाराष्ट्रपुलिसने28अगस्तकोगिरफ्तारकियाथा।इनपरआरोपथाकिइनसभीलोगोंकेमाओवादियोंकेसाथलिंकहैं,जिन्होंनेमिलकरपुणेमें1जनवरीकोभीमाकोरेगांवस्थितएल्गरपरिषदकीमेंहमलाकरवायाथा।इससेपहले20सितंबरकोकोर्टनेअपनाफैसलाइसमसलेपरसुरक्षितरखलियाथा।

इसेभीपढ़ें-सबरीमालामंदिरमेंमहिलाएंअबकरसकेंगीप्रवेश,पढ़िएसुप्रीमकोर्टकेफैसलेकी10बड़ीबातें