भराड़ी के गांवों में पाइपलाइन क्षतिग्रस्त होने से पेयजल संकट

संवादसहयोगी,घंडालवीं:भराड़ीकेअंतर्गतकईगांवकेबा¨शदेपेयजलआपूर्तिनहोनेसेपानीकीबूंद-बूंदकेलिएतरसरहेहैं।भराड़ीडिवीजनकेघंडालवीं,कोठी,कामली,समलाहकेलोगोंकोपिछलेछहदिनसेपानीनसीबनहींहोरहाहै।पानीकाप्रबंधकरनेकेलिएउनकोइधर-उधरभटकनापड़रहाहै।लोगोंकोहैंडपंपोंवप्राकृतिकजलस्त्रोतोंपरनिर्भररहनापड़रहाहै।पिछलेदिनोंहुईबारिशकेकारणबिजलीनहोनेकीबातकहकरआइपीएचविभागनेबिजलीआनेकेसाथहीपेयजलआपूर्तिबहालकरनेकीबातकहीथी।अबबिजलीबहालहुएतीनदिनसेज्यादासमयहोगयाहैलेकिनलोगोंकोअभीतकपानीनहींमिलाहै।मकड़यागांवमेंपेयजलपाइपलाइनटूटनेसेइनगांवमेंपानीनहींआरहाहै।

ज्ञानचंदकाकहनाहैकिलोगोंकोपानीकेसंकटसेजूझनापड़रहाहै।दैनिककार्यभीप्रभावितहोरहेहैं।अधिकांशसमयपानीकाप्रबंधकरनेमेंबर्बादहोरहाहै।विभागलोगोंकीसमस्याकासमाधानकरनेकेलिएकोईकदमनहींउठारहाहै।

प्रकाशधीमानकाकहनाहैकिपानीकेलिएहैंडपंपतथाप्राकृतिकजलस्त्रोतोंपरनिर्भरहोनापड़रहाहै।विद्युतआपूर्तिबहालहोनेपरभीअभीतकपानीकीसमस्याजसकीतसबनीहुईहै।जल्दसमस्याकासमाधानहोनाचाहिए।

कश्मीर¨सहकाकहनाहैकिकामली,कोठीघंडालवींकीपानीकीसप्लाईकीपाइपलाइनमकड़यानामकगांवकेपासटूटचुकीहै।जिसकोरिपेयरकरनेमेंविभागकोछहदिनहोचुकेहैंलेकिनअभीतकपेयजलआपूर्तिबहालनहींहोपाईहै।

सतीशकाकहनाहैकिविभागकोकईबारसमस्यासेअवगतकरवायागया।पेयजलआपूर्तिनहोनेसेइलाकावासीपानीकीबूंद-बूंदकेलिएतरसरहेहै।विभागकोजल्दइससमस्याकासमाधानकरनाचाहिए।

आइपीएचभराड़ीडिवीजनकेएसडीओर¨वद्ररणौतकाकहनाहैकिकर्मचारीअपनाकार्यमुस्तैदीकेसाथकररहेहैं।शीघ्रहीसमस्याकासमाधानकरदियाजाएगा।