बक्सर में स्कूल का चापाकल खराब, पानी के लिए भटक रहे बच्चे

बक्सर।सरकारीविद्यालयोंमेंगुणवत्तापूर्णशिक्षाएवंबच्चोंकाठहरावसुनिश्चितकरनेकेउद्देश्यसेसरकारद्वाराभलेहीतरह-तरहकीयोजनाएंसंचालितकीजारहीहों,मगरकुछव्यवस्थागतखामियोंकेकारणसरकारकासोचफलीभूतनहींहोरहाहै।ताजामामलासिमरीप्रखंडकेकाजीपुरगांवमेंसंचालितउर्दूमध्यविद्यालयसेजुड़ाहै,जहांविगतकईमहीनोंसेचापाकलखराबहोनेकेकारणइसतल्खमौसममेंभीबच्चोंकोपानीकेलिएइधर-उधरभटकनापड़रहाहै।

कहनेकोतोइसविद्यालयमेंतीनचापाकलहैं,परंतुतकनीकीसमस्याकेचलतेसारेखराबहैं।ऐसीस्थितिमेंविद्यालयकेनामांकितबच्चेआस-पड़ोसकेघरोंसेपानीलाकरप्यासबुझानेकोमजबूरहैं।दूसरीओरपेयजलकेअभावमेंएमडीएमकाकार्यभीप्रभावितहोरहाहै।चूंकि,पानीकेलिएरसोइयाकोबार-बारआसपड़ोसकेघरोंजानापड़रहाहै।इसदौरानवेनिजीचापाकलमालिकोंकेउलाहनाकापात्रभीबनरहीहैं।हालांकि,इसमामलेमेंविद्यालयप्रबंधनद्वाराअनेकबारलिखिततौरपरलोकस्वास्थ्यअभियंत्रणविभागकेअधिकारियोंकोअवगतकरायागयाहै,मगरउनकीउदासीनताइसभीषणगर्मीमेंबच्चोंकीपरेशानीकाकारणबनाहुआहै।कुछऐसीहीस्थितिप्राथमिकविद्यालयचकनीकाहै।इसविद्यालयकाइकलौताचापाकलपिछलेएकसालसेखराबहै।गतचारदिनपूर्वपंचायतकेमुखियाइम्तियाजअंसारीद्वारादोनोंविद्यालयोंकेकिएगएनिरीक्षणकेदौरानयहमामलासामनेआतेहीउन्होंनेपीएचइडीकेअधिकारियोंकाध्यानआकृष्टकरातेहुएसमस्याकेत्वरितसमाधानकीमांगकीथीलेकिन,अधिकारियोंनेइसेगंभीरतासेनहींलिया,खामियाजाइसप्रचंडगर्मीमेंस्कूलीबच्चोंकोभुगतनापड़रहाहै।कहतेहैंस्कूलीबच्चे

चापाकलखराबहोनेसेकाफीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।प्यासलगनेपरदूसरोंकेघरजाकरपानीलानापड़ताहै।

विद्यालयकाचापाकलविगतकईमहीनोंसेखराबहै,लेकिनउसकीमरम्मतकेलिएपीएचइडीविभागकेकर्मीकभीनहींआतेहैं।ऐसीस्थितिमेंपीनेकेलिएघरसेपानीलानापड़ताहै।

भीषणगर्मीमेंशिक्षणकार्यकेलिएनिर्धारितसमयावधिमेंप्यासलगनेपरपानीकेलिएछात्राओंकोज्यादापरेशानियोंकेदौरसेगुजरनापड़रहाहैं।किसीकेघरपानीलानेजानेमेंभीवेअपनेकोअसहजमहसूसकरतीहैं।

मध्याह्नभोजनकेपश्चातज्यादातरबच्चेपानीपीनेकेलिएअपनेघरजानेकोमजबूरहोतेहैं।विद्यालयकेतीनोंचापाकलखराबहोनेसेयहस्थितिउत्पन्नहुईहै,लेकिनअभीभीसमस्याकेसमाधानकोलेकरविभागीयकर्मीउदासीनबनेहुएहैं।

लक्ष्मीनाकुमारी

कहतेहैंमुखिया

चापाकलखराबहोनेसेउर्दूमध्यविद्यालयकाजीपुरएवंप्राथमिकविद्यालयचकनीमेंपढ़नेवालेबच्चेकाफीपरेशानहैं।प्यासलगनेपरउन्हेंपानीकेलिएभटकनापड़रहाहै।पीएचईडीकेअधिकारियोंकोअवगतकरानेकेबादभीसमस्याकेसमाधानकीदिशामेंउनकाआगेनहींआनाकाफीचिताकाविषयहै।

इम्तियाजअंसारी,मुखिया,काजीपुरपंचायत

कहतेहैंप्रधानाध्यापक

स्कूलमेंपेयजलकीसमस्यावास्तवमेंगंभीरहै।तीनोंचापाकलखराबहै।उसकीमरम्मतकेलिएअनेकबारपीएचईडीकेअधिकारियोंकोलिखितपत्रप्रेषितकियागयाहै,लेकिनआजतकसमस्याकासमाधाननहींहुआ।इसकाखामियाजाछात्र-छात्राओंकोभुगतनापड़रहाहै।

मोहम्मदहमीद,प्रभारीप्रधानाध्यापक,उर्दूमध्यविद्यालयकाजीपुर