चार घड़ों के सहारे बुझ रही राहगीरों की प्यास

जमुई।नगरपरिषदजमुईद्वाराराहगीरोंकेलिएपानीपीनेकीव्यवस्थाऐसीकिलोगभीशर्मसेपानी-पानीहोरहेहैं।कचहरीचौकतथामहिसौड़ीचौकपरनगरपरिषदनेचारछोटे-छोटेघड़ोंमेंपानीरखकरपेयजलकीव्यवस्थाकीहै।यूंकहेंकिचारघड़ोंसेजिलामुख्यालयआनेवालेराहगीरोंकीप्यासबुझाईजारहीहै।सबसेशर्मनाकपहलूयहहैकिजहांपरइनचारघड़ोंकोनगरपरिषदद्वारारखागयाहैवहांपरसाफ-सफाईकीसमुचितव्यवस्थातकनहींहै।आलमयहहैकिवाहनकेफटेटायरोंपरघड़ेमेंपानीमहिसौड़ीचौकपरनीचेरखागयाहै।कचहरीचौकपरतोअंडेकेकार्टूनपरहीघड़ेकोरखदियागयाहै।आखिरयहमानसिकतानगरपरिषदकेपदाधिकारियोंतथानगरपार्षदोंकेबीचकहांसेऔरकैसेविकसितहोगईकिमात्रचारघड़ोंमेंपानीभरदेनेसेलोगोंकीप्यासबुझजाएगी।सातनिश्चयकेतहतहरघरनलकाजलयोजनाकेमाध्यमसेघरोंतकपानीपहुंचानेकीव्यवस्थाअबतकजमीनीस्तरसेऊपरनहींउठपाईहै।पुरानेसप्लाईवाटरकीबातकरेंतोबीतेदोदशकसेयहव्यवस्थाध्वस्तहोचुकीहै।बीतेकुछवर्षोंमेंनगरपरिषदकेविभिन्नवार्डोंमेंबड़ीसंख्यामेंचापाकललगाएजानेकादावाकरलाखोंरुपयेनगरपरिषदद्वाराखर्चकियागया।येचापाकलअबपानीनहींदेतेहैंयाफिरचहारदीवारीमेंकैदहोगएहै।लाखोंखर्चकेबावजूदइनचापाकलोंकालाभआमलोगोंकोनहींमिलपारहाहै।करोड़ोंकीबजटवालेनगरपरिषदकीव्यवस्थाजहांएकओरशहरवासियोंकोपरेशानीदेनेकाकामकररहीहै,वहींआमलोगोंमेंयहधारणाभीपैदाकररहीहैकिनगरपरिषदद्वारारखेगएयहचारघड़ेकहींनकहींबड़ेघोटालेकीओरइशाराकररहेहैं।फिलहाल,इसभीषणगर्मीकेदौरानयहचारघड़ेनगरवासियोंकीप्यासबुझानेकेलिएपर्याप्तनहींहै।

घड़ोंमेंपानीभरनेसेलेकरसाफ-सफाईकीजिम्मेदारीसंभालरहेलोगोंसेलापरवाहीकेसंदर्भमेंशोकॉजकियाजाएगा।

डॉ.जनार्दनप्रसादवर्मा,नपकार्यपालकपदाधिकारी

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप