चार लाख लोग पी रहे दूषित जल, 115 गांव प्रभावित

बलरामपुर:जिलेकेचारब्लॉकोंकीदसलाखआबादीमेंकरीबचारलाखलोगदूषितजलपीरहेहैंजिससेउनमेंहीमोक्रीमाटेसिस(रक्तकीवर्णता)जैसीखतरनाकबीमारीपनपरहीहै।लालवपीलाजलपीरहेलोगोंकायहीहालरहा,तोआनेवालेकुछदिनोंमेंस्थितिभयावहहोसकतीहै।जलनिगमनेआयरनअधिकतावालेगांवोंकोचिह्नितकरनेकीकवायदशुरूकरदीहै।

110फिटनीचेहैशुद्धपानी:नेपालसीमासेसटेजिलेकेचारविकासखंडोंतुलसीपुर,गैंसड़ी,पचपेड़वावहरैयासतघरवामेंभूगर्भजलस्तरबहुतनीचेहैं।गैंसड़ीब्लॉकक्षेत्रकेमटेहना,बसंतपुर,सोनपुर,मझौली,सुगांव,मछावर,खदगौरा,चैपुरवा,हरखासमेत115गांवोंमेंलोगजोपानीपीेरहेहैं,वहकठोरहै।इसपरतैलीयपरतजमीहोतीहै।इसेअगररातभररखदियाजाएतोयहलालहोजाताहै।गैंसड़ीबाजारमेंलगीदोपानीटंकीचारसालसेखराबहै।शुद्धजलकेलिए110फिटकीबोरिगहोनीचाहिएजोकरापानाआमआदमीकेबसकीबातनहींहै।कारणपहाड़कीजड़ेफैलीहुईहै।40-50फिटपरलगेछोटेनलोंकादूषितपानीपीनेकोलोगविवशहैं।जिसमेंआयरन1.5पीपीएमपायाजाताहै।कहीं-कहींयहस्थिति2.0पीपीएमतकपहुंचगईहै।

पानीकीकमीसेपनपरहीबीमारी:गैंसड़ीसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकेचिकित्सकडॉ.वीरेंद्रआर्यानेबतायाकिअस्पतालआनेवालेअधिकांशमरीजपानीकीकमीसेबीमारहोतेहैं।लीवरकमजोरहोने,उल्टी,पेटमेंजलन,हड्डीमेंसूजनवबालझड़नेकीशिकायतेंरहतीहैं।इनमरीजोंकोपानीउबालवछानकरपीनेकीसलाहदीजातीहै।साथहीनलमेंमोटासूतीकपड़ाबांधकरपानीकाउपयोगकरें।

आयरनकीअधिकतावालेगांवहोंगेचिह्नित:जलनिगमकेसहायकअभियंताविवेककुमारकाकहनाहैकितुलसीपुर,पचपेड़वा,हरैयावगैंसड़ीब्लॉकोंमेंशुद्धपानी110फिटगहराईपरमिलताहै।40-50फिटपरमिलनेवालेपानीमेंआयरनकीमात्राअधिकहोतीहै।आयरनकीअधिकतावालेगांवोंकोचिह्नितकियाजारहाहै।