चीन और नेपाल से सटे क्षेत्रों में 'महोत्सव' से विकसित होंगे गांव, थमेगा पलायन

सोबनसिंहगुसाईं,देहरादून।चीनऔरनेपालसीमासेसटेइलाकोंमेंबढ़रहापलायनऔरयहांसमुदायविशेषकीबढ़तीजनसंख्याकोदेखसुरक्षाएजेंसियांचिंतितहैं।सुरक्षाकीदृष्टिसेइसेखतरनाकमानाजारहाहै।सीमांतक्षेत्रकेगांवोंमेंपलायनरोकनेऔरवहांरोजगारसहितअन्यसुविधाएंउपलब्धकरानेकेलिएराज्यसरकारकेंद्रीयएजेंसियोंकेसहयोगसेअक्टूबरकेअंतमेंइनगांवोंमेंविकासमहोत्सवआयोजितकरेगी।इसकीजिम्मेदारीपुलिसविभागकोसौंपीगईहै।सरकारकीसोचयहहैकिसीमांतक्षेत्रमेंविकासऔररोजगारमिलेगातोपलायनरुकजाएगा।

हालहीमेंप्रधानमंत्रीनेदेशकेसभीराज्योंकेपुलिसमहानिदेशकोंसेवीडियोकांफ्रेंसकेमाध्यमसेसंवादकियाथा।इसदौरानप्रधानमंत्रीनेपुलिसमहानिदेशकोंसेकहाथाकिसीमांतगांवोंमेंविकासमहोत्सवआयोजितकरवहांमूलभूतसुविधाएंउपलब्धकराएं।इसीक्रममेंउत्तराखंडकेपुलिसमहानिदेशकअशोककुमारनेअधिकारियोंकोसीमांतकेऐसेगांवचिह्नितकरनेकेनिर्देशदिए,जहांसबसेअधिकपलायनहुआहै।इसमेंपिथौरागढ़,चमोलीऔरउत्तरकाशीकेगांवोंमेंसबसेअधिकपलायनहोनेकीबातसामनेआईहै।पलायनरोकनेकोपुलिसविभागनेपहलेचरणमेंइनतीनोंजिलोंमेंविकासमहोत्सवकाआयोजनकरनेकानिर्णयलियाहै।हालांकि,महोत्सवकीतिथिअभीतयनहींहै।सालभरमेंदोबारयहमहोत्सवआयोजितकरनेकीयोजनाहै।

विकासमहोत्सवकेतहतसीमांतजिलोंकेगांवोंकेग्रामीणोंकोमूलभूतसुविधाओंकेसाथरोजगारउपलब्धकरायाजाएगा।उत्तराखंडपुलिसकाकामस्थानीयप्रशासनऔरकेंद्रीयसुरक्षाएजेंसियोंकेसाथमिलकरविकासकीयोजनाओंकोधरातलपरउतारनाहोगा।ग्रामीणोंकीआंतरिकसुरक्षाकाजिम्माभारततिब्बतसीमापुलिस(आइटीबीपी)औरसीमासुरक्षाबलकारहेगा।

इनविभागोंकाहोगामुख्यरोल

विकासमहोत्सवमेंयुवाओंकोरोजगारउपलब्धकरानेकेलिएउद्योगविभाग,कृषिसंबंधीजानकारीदेनेकेलिएकृषिविभाग,पशुओंकीसमस्याकोलेकरपशुपालनविभागऔरचिकित्सक,बागवानीविभाग,पर्यटनविभाग,सिंचाईविभाग,मत्स्यवदुग्धविकास,शिक्षाकीअलखजगानेकेलिएशिक्षाविभागकेअधिकारीमौजूदरहेंगे।

यहभीपढ़ें- एकछोटासागांवदेशभरकेगावोंकेलिएबनरहामिसाल,पीएममोदीभीहुएमुरीद,इसतरहलिखरहानईइबारत

पुलिसमहानिदेशकअशोककुमारनेबतायाकिसीमांतक्षेत्रोंमेंबढ़रहापलायनसुरक्षाकीदृष्टिसेखतरनाकहै।क्षेत्रवासियोंकीसमस्याओंकोदूरकरनेवआंतरिकसुरक्षाबढ़ानेकेउद्देश्यसेअक्टूबरकेअंतमेंविकासमहोत्सवकाआयोजनकियाजाएगा।पुलिसविभाग,केंद्रीयएजेंसियांवविभिन्नविभागोंकेअधिकारीगांवोंमेंजाकरग्रामीणोंकीसमस्याएंसुनेंगेऔरउन्हेंदूरकरनेकाप्रयासकरेंगे।

यहभीपढें- साढेचारसालमेंउत्तराखंडके80गांवोंके1423परिवारोंकाहुआविस्थापन,सरकारनेतेजकीमुहिम