चिटफंड: साक्ष्य देंखकर तय होगा कि राजीव कुमार से हिरासत में पूछताछ की जरूरत है या नहीं

नयीदिल्ली,एकमई(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेबुधवारकोकेन्द्रीयजांचब्यूरोसेकहाकिवहसाक्ष्योंकीविवेचनाकरेगाकिक्यासारदाचिटफंडघोटालामामलेकेसिलसिलेमेंकोलाकाताकेपूर्वपुलिसआयुक्तराजीवकुमारसेहिरासतमेंपूछताछकीजरूरतहैयानहीं।प्रधानन्यायाधीशरंजनगोगोई,न्यायमूर्तिदीपकगुप्ताऔरन्यायमूर्तिसंजीवखन्नाकीपीठनेराजीवकुमारसेहिरासतमेंपूछताछकीआवश्यकताकेबारेमेंकेन्द्रीयजांचब्यूरोद्वारापेशसाक्ष्योंकेअवलोकनकेबादयहटिप्पणीकी।जांचएजेन्सीकाआरोपहैकिराजीवकुमारने‘‘पहुंचवालोंकोबचानेकेलिये’’इसमामलेमेंसाक्ष्यनष्टकरनेतथाउनकेसाथछेड़छाड़करनेकाप्रयासकियाहै।कोलकाताकेपूर्वपुलिसआयुक्तकेवकीलनेआईपीएसअधिकारीकोहिरासतमेंलेकरपूछताछकरनेकीअनुमतिकेलियेजांचब्यूरोकीपहलकाप्रतिवादकरतेहुयेकहाकियहऔरकुछनहींबल्कि‘राजनीतिकखेल’है।शीर्षअदालतद्वारासारदाचिटफंडघोटालाप्रकरणकीजांचकेन्द्रीयजांचब्यूरोकोसौंपेजानेसेपहलेराजीवकुमारपश्चिमबंगालकेविशेषजांचदलकेमुखियाथे।इसमामलेमेंबुधवारकोसुनवाईकेबीचसीबीआईकीओरसेसालिसीटरजनरलतुषारमेहतानेजांचकेदौरानसीबीआईद्वाराविशेषजांचदलकेअधिकारीकेदर्जकियेगयेबयानकाजिक्रकिया।उन्होंनेराजीवकुमारसेपूछताछकीआवश्यकताकेसमर्थनमेंपीठकोकुछदस्तावेजभीसौंपे।इसपरपीठनेकहा,‘‘हमनेबयानपढ़ाहै।यहजांचकाविषयहै।हमेंयहदेखनाहैकिक्याऐसीकोईसामग्रीहैजिससेपताचलताहोकिपुलिसआयुक्तसेहिरासतमेंपूछताछकीजरूरतहै।’’मेहतानेदलीलदीकिपहलीनजरमेंसबूतहैंकिकुमारनेसाक्ष्योंकोनष्टकियाथायाउनकेसाथछेड़छाड़कीऔरउन्होंनेइसमामलेमेंकुछमुख्यआरोपियोंकोबचानेकाप्रयासकियाथा।राजीवकुमारऔरपश्चिमबंगालसरकारकीओरसेवरिष्ठअधिवक्ताअभिषेकमनुसिंघवीनेकहाकिहालांकिजांचएजेन्सीकाआरोपहैकिकुमारनेसाक्ष्यनष्टकियेलेकिनउसनेआजतकइससंबंधमेंभारतीयदंडसंहिताकीधारा201केतहतकोईप्राथमिकीदर्जनहींकीहै।सिंघवीनेकहा,‘‘यहऔरकुछनहींबल्किमामलेकोबनायेरखनेऔरलोगोंकोसंदेहकेदायरेमेंरखनेकीराजनीतिकचालहै।’’उन्होंनेकहाकिइससेपहलेशीर्षअदालतनेविशेषजांचदलकीइसमामलेकीजांचकेलियेसराहनाकीथी।उन्होंनेकहाकिकुमारसेसीबीआईनेपांचदिनशिलांगमेंकरीब40घंटेपूछताछकीऔरउन्होंनेकिसीभीसवालकाजवाबदेनेसेबचनेकाप्रयासनहींकिया।सिंघवीनेकुमारद्वाराशीर्षअदालतमेंदाखिलहलफनामेकाभीहवालादियाजिसमेंउन्होंनेआरोपलगायाथाकिजांचएजेन्सीउन्हेंदुर्भावनाऔरजांचब्यूरोकेपूर्वअंतरिमनिदेशकएमनागेश्वरकेहितोंकेटकरावकीवजहसेनिशानाबनारहीहैक्योंकिउनकेपरिवारकेसदस्यनोटबंदीकेबादजांचकेदायरेमेंथे।कुमारनेदावाकियाथाकिनवंबर,2016मेंनोटबंदीकेबादकुछखोखाकंपनियोंकेखिलाफजांचशुरूकीगयीथीजोपहलीनजरमेंबड़ीरकमस्वीकारकरनेमेंसंलिप्तथींऔरइससंबंधमेंएकप्राथमिकीभीदर्जकीगयीथी।इसमामलेकीजांचकेदौरानरावकीपत्नीऔरपुत्रीकानामभीसामनेआयाथा।सिंघवीनेहलफनामेकाजिक्रकरतेहुयेकहाकिकुमारनेबड़ीसाजिशमेंभाजपानेतामुकुलरायऔरकैलाशविजयवर्गीयकेशामिलहोनेकाआरोपलगायाथाऔरकहाथाकिएकआडियोक्लिपभीसार्वजनिकहैजिसमेंवेसाफतौरपरकुछ‘‘वरिष्ठपुलिसअधिकारियों’’कोनिशानाबनानेकीबातकररहेहैं।उन्होंनेकहाकिविशेषजांचदलद्वाराएकत्रकियेगयेसाक्ष्यकेन्द्रीयजांचब्यूरोकोसौंपेगयेथेलेकिनअबवहबुरीतरहसेकुमारकेपीछेपड़ीहै।पीठनेजबमेहतासेइसमामलेकीजांचकीस्थितिकेबारेमेपूछातोउन्होंनेकहाकिइसमामलेकीकुल76प्राथमिकीकोजांचएजेन्सीद्वारादर्जकियेगयेचारमामलोंमेंसमाहितकरदियागयाथा।उन्होंनेकहाकिचारमोबाइल,औरलैपटापआरोपियोंसेजब्तकियेगयेथेजोमहत्वूपर्णसाक्ष्यहोसकतेथेलेकिनविशेषजांचदलकेजांचअधिकारीनेउन्हेंआरोपियोंकोलौटादियाथा।हालांकिपीठनेन्यायालयकोसौंपेगयेइसमामलेकीडायरीके‘‘निकलेहुयेपन्नों’’केबारेमेंसवालकिया।पीठनेकहा,‘‘क्यायहप्रमुखएजेन्सी,सीबीआई,कानूनकेप्रावधानोंकापालनकररहीहै?इसतरहकेमामलेमें,क्याआपकोसहीतरीकेसेमामलेकीडायरीनहींरखनीचाहिए?मामलेकीकेसडायरीइसतरहसेअलगअलगपन्नोंमेंनहींहोसकती।इससंबंधमेंदंडप्रक्रियामेंसंशोधनकियाजाचुकाहै।’’मेहतानेपीठसेकहाकिजांचब्यूरोद्वारादर्जकियेगयेबयानोंपरकिसीनेसवालनहींउठायेहैंऔरकिसीनेयहदावाभीनहींकियाहैकियेबयानमनगढ़ंतहैं।उन्होनेयहभीसवालउठायाकिफोनसेवाप्रदाताओंसेमिलेकालडिटेलरिकार्डकीप्रतिकुमारनेअपनेपासरखली।इसमामलेमेंअधूरीरहीबहसबृहस्पतिवारकोभीजारीरहेगी।शीर्षअदालतनेमंगलवारकोसीबीआईसेकहाथाकिकोलकाताकेपूर्वपुलिसआयुक्तसेहिरासतमेंपूछताछकीआवश्यकतासेसंबंधितसाक्ष्यन्यायालयमेंपेशकरकेउसेसंतुष्टकियाजायेकिराजनीतिकमकसदसेइसकीजरूरतनहींहै।