चंडीगढ़ कांग्रेस में कई दिनों से अध्यक्ष व पूर्व अध्यक्ष में चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच पूर्व अध्यक्ष का इस्तीफा देने का ऐलान और कहा 35 साल से सेवा कर रहा

शहरमेंपिछलेकईदिनोंसेकांग्रेसकेदोबड़ेनेताओंकेबीचलगातारआरोप-प्रत्यारोपकादौरचलरहाथा।इसीबीचसोशलमीडियापरएकदूसरेकेखिलाफबातेंलिखीजारहीथीं,जिसकेकारणकांग्रेसकेदोधड़ेबनगएथे।

आजसुबहपूर्वअध्यक्षप्रदीपछाबड़ानेएकपत्रलिखकरपार्टीछोड़नेकाऐलानकिया।सुबहपत्रलिखकरसोशलमीडियापरजारीकरतेहुएलिखाकिउन्होंनेकांग्रेसकीसदस्यतासेइस्तीफादेदियाहैऔरइसबारेमेंवेजल्दहीकांग्रेसकीराष्ट्रीयअध्यक्षसोनियागांधीकोएकपत्रलिखेंगेजिसमेंवेइस्तीफादेनेकेकारणोंकेबारेमेंखुलासाकरेंगे।

शहरमेंपिछलेकुछदिनोंसेकांग्रेसकेनएअध्यक्षसुभाषचावलाएवंपूर्वकेंद्रीयमंत्रीपवनकुमारकेसाथप्रदीपछाबड़ाकेबीचविवादचलरहाथा।छाबड़ाकोराजनीतिमेंलानेवालेपवनबंसलहीहैं,लेकिनपिछलेदिनोंजबप्रदीपछाबड़ाकोअध्यक्षपदसेहटाकरसुभाषचावलाकोअध्यक्षबनादियागयाउसकेबादसेछाबड़ाऔरबंसलमेंदूरियांबढ़नेलगीं।

सोनियागांधीकोलिखेपत्रमेंबंसल-चावलाकोभड़ासनिकाली

पूर्वकांग्रेसअध्यक्षप्रदीपछाबड़ानेएआईसीसीअध्यक्षसोनियागांधीकोलिखेपत्रमेंपूर्वकेंद्रीयरेलमंत्रीपवनकुमारबंसलऔरवर्तमानकेचंडीगढ़कांग्रेसअध्यक्षसुभाषचावलापरकईतरहकेआरोपलगाएहै।छाबड़ानेअपनेलंबेपत्रमेंलिखाहैकिपिछलेकुछसमयसेकांग्रेसकीमीटिंगमेंसेपवनकुमारबंसलऔरसुभाषचावलानेउन्हेंपूरीतरहसेअनदेखाकररखाथा।छाबड़ानेअपनीपुरानीबातोंकोयादकरतेहुएकहाकिउन्होंने35सालतककांग्रेसकीसेवाकीहै।उन्होंनेकहाकिपिछलेकुछसमयसेउन्हेंएककठपुतलीकेरूपमेंमानाजारहाथा।उन्होंनेकहाकिपवनकुमारबंसलकेतानाशाहीरवैयेकेकारणमेरेपासयहकदमउठानेकेअलावाऔरकोईविकल्पनहींथा,जिसकीमैंनेसपनेमेंभीकल्पनानहींकीथी।उन्होंनेकहाकिपवनकुमारबंसल2013केरेलवेरिश्वतघोटालेमेंजबफंसेथेतोपार्टीकोमामेंचलीगईथी।इसशर्मनाकघटनाकेबादनकेवलचंडीगढ़कांग्रेसबल्किभारतीयराष्ट्रीयकांग्रेसकेहरएककार्यकर्ताकोअपमानकासामनाकरनापड़ा।उन्होंनेकहाकिइससमयभीमैंनेबंसलकीमददकीथी।घोटालेकीशर्मनाकघटनाकेकारणहमें2014केलोकसभाचुनावमेंइतनीबड़ीहारकासामनाकरनापड़ाथाकिकांग्रेसपार्टीनेपिछले20वर्षोंसेचंडीगढ़मेंकभीनहींदेखाथा,जिसनुकसानकेलिएपवनबंसलजिम्मेदारहैं।2015मेंजबमुझेचंडीगढ़प्रादेशिककांग्रेसकमेटीकाअध्यक्षनियुक्तकियागया,तोमुझेकईचुनौतियोंकासामनाकरनापड़ा।चंडीगढ़कांग्रेसकाहरकार्यकर्ताजोशखोचुकाथा।

छाबड़ानेपत्रमेंलिखाहैकि2016केनगरनिगमचुनावकीहारकेबादपार्टीकेकार्यकर्ताओंने'पवनकुमारबंसलमुक्त'कीमांगउठाई।पवनबंसलपार्टीकोएकनिजीकंपनीकीतरहचलारहेहैंऔरअपनेकरीबीलोगोंकोहीआगेकररहेहैंजो2019केलोकसभाचुनावकीहारकामुख्यकारणहै।इसकेअलावाकईअन्यतरहकीबातेंपत्रमेंलिखीगईहै।

नोटिसमिलनेसेपहलेइस्तीफादिया

इसीबीचगुरुवारकोकांग्रेसभवनसेक्टर-35मेंनईप्रदेशकमेटीकीकार्यकारिणीकीबैठकहुईजिसमेंयहनिर्णयलियागयाकिप्रदीपछाबड़ाकोपार्टीसेबाहरनिकालदियाजानाचाहिए।इसकेबादआजसुभाषचावलानेछाबड़ाकोएंटी-पार्टीएक्टीविटीजकोलेकरकारणबताओनोटिसभेजाजानाथा,लेकिनइससेपहलेहीआजछाबड़ानेकांग्रेसकीसदस्यतासेइस्तीफादेनेकीबातकही।प्रदीपछाबड़ानेकांग्रेसकोचंडीगढ़मेंमजबूतकरनेमेंअपनाअहमरोलनिभायाऔरलगभग35सालसेकांग्रेसपार्टीकेसाथजुड़ेहुएथे।

कांग्रेसकोहानिहोगी

चंडीगढ़मेंअगलेसालनगरनिगमकेचुनावहोनेवालेहैं।ऐसेमेंकांग्रेसकेप्रमुखनेताकेइस्तीफादेनेकेबादपार्टीकीमजबूतीजरूरकमहोगीजिसकाविपक्षीपार्टियांलाभउठासकतीहैं।अभीतकछाबड़ाकीओरसेकिसीपार्टीमेंजानेकासंकेततोनहींदियाहैलेकिनवेजिसभीपार्टीमेंजाएंगेंवहपार्टीशहरमेंमजबूतीकेसाथनगरनिगमचुनावोंमेंआसकतीहै।प्रदीपछाबड़ाकेसमर्थकोंकीओरसेकईकांग्रेसीसदस्योंनेभीएकसाथइस्तीफादेदियाथा।