Congress Crisis: गिरती साख और घटता जनाधार, आखिर लाख कोशिशों के बाद भी क्यों नहीं जनता के बीच जगह बना पा रही देश की सबसे पुरानी पार्टी

रांची,जासं।पंजेकीशानजमीनपरकमऔरहवामेंज्यादाहैं।मीटिंगपार्टीकार्यालयमेंसिमटाहैऔरपुतलादहनकेसरीचौकपर।दोनोंमेंकार्यकर्ताकमहोतेहैं।जोरहतेहैं,वेउत्साहितनहींदिखतेहैं।संगठनमेंस्थायीनेतृत्वकर्तानहींहै।कार्यकारीकेभरोसेचलरहाहै।करीबतीनसालसेयहीहालहै।स्थायीकीमांगकरतेहैं,परअपनेगिरेबांमेंनहींझांकतेहैं।भलाहोबेचारेका,जोस्थायीनहींहोतेहुएभीगाड़ीखिंचरहेहैं।वैसेप्रदेशमेंचार-चारकार्यकारीहैं।यहांतोसिर्फएकहै।गठबंधनकेघटकहैं।सरकारगठबंधनकीहै।फिरभीजनाधारनहींबढ़रहाहै।देशमेंसबसेपुरानीहै।पुरानेढर्रेपरचलरहीहै।जनता-जनार्दनदूरीबनारहेहैं।परिस्थितिकोअनुकूलकरनीहै,तोसक्रियताबढ़ानीहोगी।दोसालबादकिस्मतआजमानीहै,तोतैयारीअभीसेकरनीहोगी।

राजनीतिमेंरंगोंकाबड़ामहत्वहोगयाहै।सभीदलोंकाइसपरविशेषनजरहै।रंगकीचर्चाइसलिएभीजरूरीहै,चारदिनोंकेबादहोलीकापर्वहै।होलीकीबातहीनिरालीहै।सूरजकीलाली,धरतीकीहरियाली,चंदाकीचांदनीऔरगगनमंडलमेंसतरंगीयहीतोगौरवशालीसंस्कृतिकाअनूठारंगोंकात्योहारहै।मगर,हुजूरइसेरंगोंमेंक्योंबांटरहेहैं।यहतोसतरंगीहै।पार्टीकेदलदलमेंमतबांटिए।हराहोयालाल,उजलाहोयागुलाबी,नीलाहोयापीला,रंगतोरंगहोताहै।पर्व-त्योहारकोकिसीएकरंगमेंनहींसिमटायाजासकताहै।दलदलमेंरहनेवालेभैयापर्व-त्योहारोंकोदलकेदलदलमेंमतफंसाइए।मिलनसमारोहमेंसबकोबुलाईएऔरखूबमौजएवंमस्तीकरिए।तभीआएगाआनंद।बुरानामानोहोलीहै।

जिंदाऔरमुर्दाबादकेनारोंसेगुंजनेवालापरिसरसन्नाटेमेंतब्दीलहोगया।चौदहमाहसेचलाआरहाआंदोलनवाहनोंकीआगमेंजलगया।आगकीलपटेंऐसीफैली,एक-दोनहींआठसेनौसौकोअपनीचपेटमेंलेलिया।जहांतकचिंगारीपहुंचीऔरवेउसकीजदमेंआगए।अबबचावकेलिएभटकरहेहैं।खाकीवालेभैयादिनरातउनकीखोजकररहेहैं।मिलतेहीसीधेलालकोठरीकेलिएबुककररहेहैं।बारह-पंद्रहजाचुकेहैं।धरनाऔरप्रदर्शनकोआखिरकिसकीनजरलगी।मांगेउचितहै।निकटवर्तीजिलाकोइसकालाभमिलाहै।पूर्ववर्तीसीएमसाहबनेदियाहै।बड़कागांवमेंमिलसकताहै,तोटंडवामेंक्योंनहीं,यहएकबड़ासवालहै।लेकिनसवालकोउठानेवालाकोईनहींहै।कमलक्लबपहलेसेहीइससेकिनारेहै।गठबंधनमेंदमनहींहै।नुकसानरैयतकाहोरहाहै।

कंठनहींहोरहातर

गर्मीदस्तकदेचुकीहै।धूपतेजलगनेलगीहै।तापमानमेंवृद्धिहै।ठंडमेंकंठतररहताथा।प्यासकमलगतीथी।जैसे-जैसेधूपतल्खहोरहीहै,वैसे-वैसेगर्मीअधिकहोरहीहै।अबप्यासअधिकलगनेलगी।कंठसुखनेलगाहै।हेरूडैममेंपानीलबालबहै।मगरआपूर्तिनियमितनहींहै।शहरकेलोगपानीकेलिएपानीहोतेरहतेहैं।माननीयोंकोजनसमस्याओंपरध्याननहींहै।मैडममौनहैं।पानीपिलानेवालेसाहबअपनीडफली-अपनारागअलापतेहैं।कभीपाइपलाइनकाफाल्ट,तोकभीमोटरजलनेकाबहानाबनातेहैं।साहब17करोड़रुपयेखर्चकरजलापूर्तिव्यवस्थाकोसुदृढ़कियागयाऔर17सौघरोंकोशुद्धपानीनसीबनहींहोरहाहै,यहतोघोरआश्चर्यकाविषयहै।नियमितपानीकेलिएजिम्मेदारीआपकीहै।फाल्टकाबहानाअबनहींहोगाबर्दाश्त।