ड्रीम प्रोजेक्ट के गांव को भी नहीं पहुंचा पानी

बाराबंकी:देवाकेबबुरीगांवमेंसपासरकारने2014-15मेंमॉडलकालोनीबसायाथा।यहपूर्वसीएमकेड्रीमप्रोजेक्टमेंशामिलथा।यहांएकतरफसेलोगोंकेलिएमॉडललोहियाआवासबनाकरसोलरपैनलसेशुद्धपानीकेलिएओवरहेडटैंकोंकानिर्माणहुआलेकिनलोगोंकोपानीनसीबनहींहुआ।अधिकारियोंनेइसगांवकोकागजोंमेंमॉडलबनाकरकेंद्रसरकारतकप्लानप्रस्तुतकरवाह-वाहीलूटी।हकीकतमेंआजभीयहांकेलोगपानीकोतरसरहेहैं।

ग्रामपंचायतबबुरीगांवकेगांधीनगरकेनिवासीअपना-अपनाघरफॉरेस्टविभागकीजमीनपरबनाकरजीवनयापनकररहेथे।यहलोगमूलनिवासीगोरखपुरकेरहनेवालेहैं,रोजीरोटीकेचक्करमेंदशकोंपहलेआकरयहांकेनिवासीहोगए।कुछलोगतोअपनापक्कामकानभीबनवालियाथा,परंतुविभागकीसक्रियताकेकारणवहांकेनिवासियोंकोपक्केमकाननबननेकीनोटिसदेदीगयी।कुछलोगोंकेमकानबनानेसेमनाभीकरादियागयाथा।इसीसमस्यासेनिजातपानेकेलिएपूर्ववर्तीसरकारनेवर्ष2014-15मेंलोहियाग्रामीणआवासयोजनाकेतहत15परिवारकोतीनलाखपांचकेलागतसेआवासबनाकरदियाथा।साथ-साथलाभार्थियोंकेपेयजलआपूर्तिकेलिएसोलरपैनलद्वारासंचालितएकपानीकीटंकीकीव्यवस्थाभीकी,परंतुआजतकइसकासंचालननहोनेकेकारणयहसोपीसबनकररहगई।इसकीजानकारीअबखंडविकासअधिकारीदेवाकोनहींहै।इनसेट:यहांभीपानीकीउम्मीदमेंआबादी

विकासखंडदेवाकेग्रामबबुरीगांव,भवानीपुर,इमिलिहा,महिमा,विशेश्वरपुरवा,गांधीनगरसहित12गांवोंमेंवर्ष2009मेंहुएसर्वेमेंपताचलाकियहांकेहैंडपंपोंमेंदूषितपानीआरहाहै।इसकोलेकरइनगांवोंकीलगभगआठहजारआबादीकोशुद्धपेयजलउपलब्धकरानेकेलिएबसपासरकारमेंओवरहेडटैंककानिर्माणलगभगएककरोड़कीलागतसेबबुरीगांवमेंनिर्मितहुईथी।निर्माणएजेंसीजलनिगमकेअफसरोंनेपैसोंकाखूबबंदरबांटकियाऔरघटियानिर्माणकराकरपानीटंकीनिर्मितहोगई।निर्माणकेबादजबटंकीकाट्रायलहुआतोपाइपलाइनफटगई।जिससेग्रामीणोंकोपेयजलकनेक्शननहींदियागया।आजभीलोगदूषितपानीपीनेपरमजबूरहैं।

जांचरिपोर्टतैयारकराईजारहीहै।जल्दहीपरियोजनाओंकोचालूकरानेकीप्रक्रियामेंऔरतेजीलाईजाएगी।

-अनिलकुमार,जिलापरियोजनाअधिकारी,बाराबंकी।