Delhi Violence: रविशंकर प्रसाद बोले- सोनिया जी हमें 'राजधर्म' पर उपदेश ना दो

नईदिल्ली,एएनआइ। केंद्रीयमंत्रीरविशंकरप्रसादनेशुक्रवारकोकांग्रेसकीअंतरिमअध्यक्षसोनियागांधीऔरउनकीपार्टीकेनेताओंकोफटकारलगातेहुएकहाकिवेकेंद्रसरकारको'राजधर्म'परउपदेशनादें। प्रसादनेसंवाददातासम्मेलनमेंकहा,'मनमोहनसिंहनेधर्मकेकारणविस्थापितहुएलोगोंकेलिएनागरिकताकेअधिकारकीमाँगकीथी।अशोकगहलोतनेशिवराजपाटिलऔरयहांतककिआडवाणीजी,दोनोंतत्कालीनगृहमंत्रियोंकोपत्रलिखाथाकिअन्यदेशोंकेअल्पसंख्यकोंकोनागरिकतादीजानीचाहिए।फिरयहकैसाराजधर्महैकिआपनेअपनारुखबदलदिया।

उन्होंनेआगेकहाकिसीएएकागठनसंवैधानिकतरीकोंकाउपयोगकरकेऔरइसकेद्वारानिर्धारितनियमोंकापालनकरतेहुएकियागयाथा।सीएएकोदोनोंसदनोंमेंबहुतविचार-विमर्शकेबादपारितकियागया,पूरेदेशनेइसेदेखा।आपनेपूर्वमेंभीइसकासमर्थनकियाथाऔरतबआपनेरामलीलामैदानमेंअपनीरैलीमें'इसपारयाउसपारकानारादियाथा'।आपनेलोगोंकोक्योंउकसाया(सीएएकेखिलाफ)।

भाजपाकेवरिष्ठनेतानेराष्ट्रीयजनसंख्यारजिस्टर(एनपीआर)परभीकांग्रेसकोघेरा।उन्होंनेकहाकिकांग्रेस15मार्च2010कोएनपीआरकेलिएएकअधिसूचनालाई।चिदंबरमगृहमंत्रीथे,मनमोहनसिंहप्रधानमंत्रीथेऔरसोनियागांधीउससमयUPAअध्यक्षथीं।आपनेयहशुरूकियाऔरयहदेशकेलिएअच्छाथाकिलोगोंकोमिलनेवालीसुविधाओंकेलिएएकरजिस्टरबनायाजाए।मेरेपासउससमयकीलोकसभाकीकार्यवाहीकारिकॉर्डहै।

प्रसादनेपूछा,'जबआपकुछकरतेहैंतोयहठीकहै,लेकिनजबहमकरतेहैंतोयेलोगोंकोउकसातेहैं।यहसोनियाजीकिसतरहकाराजहै?बतादेंकिगुरुवारकोसोनियागांधीऔरपूर्वपीएममनमोहनसिंहकीमौजूदीमेंकांग्रेसकाएकप्रतिनिधिमंडलराष्ट्रपतिरामनाथकोविंदसेमिलाथा।इसदौरानउन्होंनेकांग्रेसनेराष्ट्रपतिकोविंदसेकेंद्रीयगृहमंत्रीकोहटानेकाआह्वानकरतेहुएअमितशाहपरकर्तव्यकेत्यागकाआरोपलगायाथा।वहीं,मनमोहनसिंहनेराष्ट्रपतिसेराजधर्मकीरक्षाकेलिएअपनीशक्तिकाउपयोगकरनेकाआग्रहकियाथा।