धड़ल्ले से फल-फूल रहा अशुद्ध पेयजल का कारोबार

जागरणसंवाददाता,हापुड़:

दुकानोंऔरघरोंमेंपानीकेजगकेमाध्यमसेअशुद्धपेयजलकीआपूर्तिधड़ल्लेसेहोरहीहै,लेकिनइसकीजांचकरनेवालाकोईनहींहै।भूजलकादोहनकरबिनाकिसीपंजीकरणकेयहलोगबड़ेपैमानेपरअवैधरूपसेकारोबारकररहेहैं।वहीं,बोतलबंदपानीबेचनेवालोंनेभीपंजीकरणनहींकराएहुएहैं।

नगरपालिकाकेआंकड़ेकेअनुसारप्रत्येकदिन26मिलियनलीटरपानी37ट्यूबवेलोंकेद्वाराजमीनसेनिकालाजाताहै,जिसकीआपूर्तिशहरभरमेंहोतीहै।बावजूदइसकेपानीकीआपूर्तिपूरेशहरकोनगरपालिकानहींदेपारहीहै।आपूर्तिनमिलपानेसेलोगोंनेघरोंमेंसमरसेबिललगाएहुएहैं,जबकिकुछलोगोंनेपानीकीमोटरलगाईहुईहै।जिससेवहलाखोंलीटरपानीकादोहनकरतेहैं।नहींहैकोईपंजीकरण

वहीं,शहरमेंदुकानोंऔरघरोंपरपानीकेजगकेमाध्यमसेबड़ीआपूर्तिहोतीहै।इसकेअलावाशादीऔरअन्यकार्यक्रमोंमेंभीपानीकेजगऔरबोतलबंदपानीकीआपूर्तिहोतीहै।चौंकानेवालीबातयहहैकिपानीकेजगकेमाध्यमसेपेयजलकीआपूर्तिहोरहीहै,लेकिनखाद्यसुरक्षाविभागमेंपंजीकरणनहींकरायाहै।ऐसेमेंलोगोंतकशुद्धपेयजलपहुंचरहाहैयानहीं,इसकीकोईगारंटीनहींहै।वहीं,विभागभीअपनेअधिकारक्षेत्रसेबाहरहोनेकीबातकहकरजांचकोटालदेताहै।दरअसल,विभागकीमानेंतोवहमात्रबोतलबंदपानीकीजांचकरसकताहै,पानीकेजगमेंबिकनेवालेपेयजलकीउन्हेंजांचकाअधिकारनहींहै।जबकिशुद्धपेयजलकेनामपरबीसरुपयेसेतीसरुपयेतकप्रतिजगलियाजाताहै।जिलेमेंनहींहुईकोईकार्रवाई

बोतलबंदऔरपानीकेजगमेंअशुद्धपेयजलबेचनेवालोंपरजिलेमेंकोईकार्रवाईनहींहुईहै।खाद्यसुरक्षाविभागकीलापरवाहीकेकारणऐसाहोताहै।अधिकारीजिम्मेदारीनानिभाकरलापरवाहीबरतरहेहैं।जिससेलोगोंकीसेहतकोनुकसानपहुंचरहाहै।जगह-जगहहैअवैधप्लांट

जनपदमेंजगह-जगहपानीकेअवैधप्लांटलगेहुएहैं।हापुड़नगरमेंदर्जनभर,कुचेसररोडचौपला,पिलखुवामेंपांचसेअधिकस्थानोंपरऔरगढ़मेंभीअवैधप्लांटलगेहुएहै।इन्होंनेपंजीकरणनहींकरायाहुआहै।खाद्यसुरक्षाविभागलगातारकार्रवाईकरताहैऔरनमूनेभरेजातेहैं।अवैधप्लांटलगेहुएहैंतोइन्हेंबंदकरवायाजाएगा।नगरपालिकाकोपानीकादोहनरोकनेकेलिएप्लांटबंदकरवानेचाहिए।

-पवनकुमार,अभिहितअधिकारी