दिबियापुर विधानसभा सीट : जो जीता उसी की बनी प्रदेश में सरकार, पुराना तो नहीं पर दिलचस्प है इस सीट का इतिहास

कानपुर,चुनावडेस्क।औरैयाजिलेकीदिबियापुरविधानसभासीटकाइतिहासबहुतपुरानानहीं।महजबीतेदोचुनावोंकाहै।इसऔद्योगिकक्षेत्रकीतस्वीरमूलभूतसुविधाओंकेमामलेमेंजिलेकेअन्यक्षेत्रोंसेबेहतरहै।यहांहुएदोचुनावोंमेंएकदिलचस्पमिथकभीबनगयाहै।जोपार्टीयहांजीततीहै,सरकारउसकीबनतीहै।2012और2017मेंसत्तापक्षकाचेहरारहेसपाऔरभाजपाकेदिग्गजइसबारभीआमने-सामनेहैं।बसपालगातारतीसरीबारयहांब्राह्मणचेहरेकाफार्मूलाअपनारहीहै।जनताइसबारकिसकेपालेमेंजातीहै,यहदेखनेवालाहै।जितेंद्रकुमारकीरिपोर्ट...

औद्योगिकक्षेत्रदिबियापुरकीशानगैसअथारिटीआफइंडियाकेअलावाएनटीपीसीभीहै।प्लास्टिकसिटीयहांऔरबनजातीतो,एकऔरनईपहचानजुड़जाती।दिबियापुरविधानसभासीटवर्ष2009मेंपरिसीमनकेबादअस्तित्वमेंआई।तब,जबअजीतमलविधानसभासीटखत्महुईऔरदिबियापुरकेरूपमेंनईविधानसभासीटमिली।वर्ष2012मेंयहांपहलाविधानसभाचुनावहुआतोसपाकेप्रत्याशीप्रदीपयादवकेसिरजीतकासेहराबंधा।उससालअखिलेशयादवकेनेतृत्ववालीसपाकीसरकारबनी।दिबियापुरसीटकेखातेमेेंसत्तापक्षकाविधायकमिला।सपाकोजितानेकाइनामभीदिबियापुरकोमिला।तत्कालीनसरकारनेयहांपरप्लास्टिकसिटीबनानेकीघोषणाकी।हालांकि,यहअबतकमूर्तरूपनहींलेसकीहै।बजटकेअड़ंगेकेचलतेकामलटकाहुआहै।2017केचुनावमेंभाजपाकीलहरमेंयहांकेसमीकरणभीपलटगए।दोबारासपासेमैदानमेंखड़ेप्रदीपयादवकोहारकामुंहदेखनापड़ा।जीतमिलीभाजपाकेलाखनसिंहराजपूतको।इसबारभीदिबियापुरकोउपहारमिला।लाखनसिंहकेकृषिराज्यमंत्रीबननेसेयहसीटवीआइपीहोगई।सेहुदमेंआवासीयमेडिकलकालेजबननेकीघोषणाभीहोगई।इसकानिर्माणजारीहै।बसपायहांकीराजनीतिमेंअलगराहपरचली।बीतेदोनोंचुनावोंमेंउसनेब्राह्मणचेहरेपरदांवलगाया।2012मेंबसपाप्रत्याशीरामजीशुक्लनेप्रदीपयादवकोटक्करदीऔरदूसरेनंबरपररहे।2017मेंरामकुमारअवस्थीकोमैदानमेंउतारालेकिन,वहतीसरेस्थानपररहे।इसबारचुनावमेंप्रदीपयादवऔरलाखनसिंहराजपूतदोनोंहीफिरमैदानमेंआमने-सामनेहैं।दोनोंकीसाखदांवपरहै।बसपालगातारतीसरीबारभीब्राह्मणचेहरेअरुणदुबेकेसाथउतरीहै।

2012केचुनावपरिणाम

प्रदीपयादव,सपा

दूसरेस्थानपर-रामजीदुबे,बसपा

तीसरेस्थानपर-शिवप्रतापसिंह,भाजपा

लाखनसिंहराजपूत,भाजपा

दूसरेस्थानपर-प्रदीपयादव,सपा

तीसरेस्थानपर-रामकुमारअवस्थी,बसपा

इसबारमैदानमेंप्रत्याशी

भाजपा-लाखनसिंहराजपूत

सपा-प्रदीपयादव

बसपा-अरुणकुमारदुबे