दिल्ली हिंसा चर्चा दो रास

दिल्लीकेकुछभागोंमेंहुईहिंसाकाउल्लेखकरतेहुएतृणमूलकांग्रेसकेडेरेकओब्रायननेकहाकिहमेंइनदंगोंकोबच्चोंकीनजरसेभीदेखनाचाहिए।उन्होंनेकहाकिबच्चेचाहतेहैंकिउन्होंनेजोपीड़ाएंझेलीं,जोजख्मखाये,उनकाउपचारहोनाचाहिए।उनकोराहतदीजानीचाहिए।उन्होंनेकहाकिइसनजरसेयदिहमदेखेंतो‘‘होममिनिस्टर’’को‘‘ह्यूमेनिटीमिनिस्टर’’भीहोनाचाहिए।उन्होंनेइनदंगोंकोकवरकरनेऔरअपनीजानकोजोखिममेंडालकरसच्चाईसामनेलानेकेलिएमीडियाकेयुवाकर्मियोंकीसराहनाकी।तृणमूलकांग्रेसनेतानेकहाकिप्रधानमंत्रीएवंगृहमंत्रीकोउनसोशलमीडियाकोफालोकरनाबंदकरदेनाचाहिएजोनफरतफैलातेहैं।डेरेकनेगृहमंत्रीसेसवालकियाकिउन्होंनेअबराष्ट्रीयनागरिकतापंजी(एनआरसी)कीचर्चाकरनाक्योंछोड़दिया।डेरेकनेकहा,‘‘गृहमंत्रीकोजिम्मेदारीलेनीहोगी?इसकेलिएप्रधानमंत्रीकोजिम्मेदारीलेनीहोगी।...इसबातकाआश्वासनदेनाहोगाकिनरसंहारदोबारानहींहोगा।’’चर्चामेंभागलेतेहुएभाजपाकेसुधांशुत्रिवेदीनेकांग्रेसपरहमलाबोलाऔरकहाकिमहात्मागांधीकीविचारधारापरचलनेकादावाकरनेवालेनेतासड़कोंपरउतरकर‘‘आरपारकीलड़ाई’’काआह्वानकरतेहैं।उन्होंनेपाकिस्तानीसंसदकीरिपोर्टकाहवालादेतेहुएकहाकिपड़ोसीदेशकाफीसमयसेचाहरहाहैकिहमारेदेशमेंअशांतिहो।उन्होंनेकहाकिअमेरिकाकेराष्ट्रपतिकेभारतकेआनेकेसमयहीइसतरहकीहिंसाहोनाकिसीबड़ीसाजिशकीओरसंकेतकरताहै।त्रिवेदीनेकहाकिइसहिंसासेपहलेकेघटनाक्रमोंपरभीविचारकियाजानाचाहिए।उन्होंनेकहाकिकईदिनोंतकजिसविरोधकोधीमीआंचमेंपकायाजारहाथा,उसीकानतीजादिल्लीकीयहहिंसाथी।उन्होंनेकहाकिअंकितशर्मापरजिसप्रकारसे400बारचाकूकाप्रहारकियागया,वहकिसप्रकृतिकोदर्शाताहै।उन्होंनेकहाकियहएकघटनानहींएकसंदेशहै।त्रिवेदीनेकहाकिहमसबजानतेहैंकिकांग्रेसकेनेतृत्वमेंदेशकोआजादीमिली।किंतुआजकईकांग्रेसनेताभीआजादीकेनारेलगारहेहैं।उन्होंनेकहाकिआजादीकीबातकरनेवालोंकेबारेमेंहमेंयहभीविचारकरनाचाहिएकिकहींयहहमारेविरूद्धकोईगंभीरषड्यंत्रनहींतोनहींहैजारी