दलित युवक की हत्या के मामले में गुजरात सरकार ने नहीं दाखिल किया जवाब, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार

नईदिल्लीसुप्रीमकोर्टनेराजकोटकेपासएकफैक्ट्रीमेंदलितयुवककीहत्याकेमामलेमेंआरोपीकीजमानतकेखिलाफअपीलपरजवाबदाखिलनहींकरनेपरसोमवारकोगुजरातसरकारकोआड़ेहाथलिया।इसदलितयुवककीफैक्ट्रीपरिसरमेंकथितरूपसेपिटाईकीवजहसेजानचलीगईथी।शीर्षअदालतनेगुजरातसरकारकोइसअपीलपरजवाबदाखिलकरनेकाआखिरीमौकादियाहै।इसमामलेमेंन्यायालयनेपिछलेसाल18नवंबरकोराज्यसरकारकोनोटिसजारीकियाथा।न्यायमूर्तिअशोकभूषण,न्यायमूर्तिआरसुभाषरेड्डीऔरन्यायमूर्तिएमआरशाहकीपीठनेकहा,‘राज्यकीओरसेअधिवक्तानेजवाबदाखिलकरनेकेलिएसमयकाअनुरोधकियाहैऔरउन्हेंएकसप्ताहकासमयदेतेहुएआखिरीमौकादियाजारहाहै।’पीठनेइसमामलेकोआगेसुनवाईकेलिएएकहफ्तेबादलिस्टकियाहै।वीडियोकॉन्फ्रेंसकेजरिएइसमामलेकीसुनवाईकेदौरानन्यायमूर्तिशाहनेगुजरातसरकारकेवकीलसेजाननाचाहाकिआरोपीकोजमानतदेनेकेउच्चन्यायालयकेपिछलेसालकेआदेशकेखिलाफअपीलपरउसनेअभीतकजवाबक्योंनहींदाखिलकिया।पीठनेसवालकिया,‘आपहलफनामेंक्योंनहींदाखिलकररहेहैं?इसेबर्दाश्तनहींकियाजाएगा।इसमामलेमेंपिछलेसालनोटिसजारीकियागयाथा।सुनवाईकीपिछलीतारीखपरभीराज्यकोजवाबदाखिलकरनेकेलिएआखिरीमौकादियागयाथा।ऐसाक्योंहोरहाहै,दूसरेमेंभीहलफनामेदाखिलनहींहोरहेहैं।’राज्यसरकारकीओरसेपेशवकीलनेसमयदेनेकाअनुरोधकरतेहुएकहाकिसंबंधितवकीलकोविड-19सेसंक्रमितहोनेकेकारणहलफनामेदाखिलकरनेमेंअसमर्थरहेहैं।याचिकाकर्ताकीओरसेवरिष्ठअधिवक्ताकॉलिनगोनसाल्विजनेकहाकियुवककोखंबेसेबांधनेकेबादउसकीपिटाईकीगईथी।35वर्षीयदलितयुवककोतबतकपीटा,जबतकवोमरनहींगयामेडिकलरिपोर्टकेअनुसार,उसकेशरीरपरगंभीरजख्मोंके24निशानथे।इसमामलेमेंउच्चन्यायालयनेचारफरवरी,2019कोआरोपीतेजसकनुभाईझालाकोइसआधारपरजमानतदेदीथीकिआरोपीकेखिलाफकमजोरसाक्ष्यहैं।आरोपहैकितेजसऔरचारअन्यनेकूड़ाउठानेवाले35वर्षीयदलितमुकेशवनियाकीकथितरूपसेपाइपऔरबेल्टसेबुरीतरहउससमयतकपिटाईकीजबतककिउसनेमौकेपरहीदमनहींतोड़दिया।इसमामलेमेंफैक्ट्रीराडाडियाइंडस्ट्रीजकेमालिकसहितपांचआरोपियोंको21मई,2018कोएससी-एसटीअत्याचारोंकीरोकथामकानूनऔरहत्या,महिलासेमारपीटकरनेऔरजबर्दस्तीबंधकबनानेसेसंबंधितआईपीसीकेप्रावधानोंकेतहतगिरफ्तारकियागयाथा।