दलित युवती को पानी भरने से रोकने पर कोर्ट ने सुनाई सजा

अहमदाबाद,जेएनएन।दलितयुवतीकोकुएंसेपानीनहींभरनेदेनेवजातिगतआधारपरभेदभाववप्रताड़नाकेएकमामलेमेंविशेषअदालतनेआरोपितमहिलाकोढाईसालवअन्यसहयोगीपांचआरोपितोंकोपांच-पांचसालकीसजासुनाईहै।गीरसोमनाथकेकोडीनारमेंवर्ष2010मेंयहमामलादर्जकियागयाथा।

गिरसोमनाथकीकोडीनारऊनातहसीलकेगांवसुगलामेंनवंबर2010कोराजपूतसमुदायकीमहिलागीताबेनधीरुभाईखासियानेसाधनामनुभाईवाजाकोगांवकेकुएंसेपानीभरनेसेयहकहतेहुएरोकदियाथाकिउसकेछूनेसेपानीअशुद्धहोजाएगा।उसनेकहाकिपहलेउसेपानीभरनेदे,इसीबीचगांवकेकुछयुवकोंनेलड़कीकीचोटीपकड़करखींचलीतथाउसेजातिगतसंबोधनकेसाथप्रताड़ितकिया।25नवंबरकोपीड़ितानेकोडीनारपुलिसथानेमेंइसकीएफआइआरदर्जकराई।

कोडीनारकेस्पेशलएससीएसटीएट्रोसिटीकोर्टकेविशेषजजएसएलठक्करनेमामलेकीसुनवाईकेबादआरोपितगीताबेनकोढाईसालकीसजावदसहजाररुपयेजुर्मानातथाअन्यपांचआरोपितोंकोएक-एकसालकीसजासुनाई।महिलाकेखिलाफएससी-एसटीएट्रोसिटीएक्ट1989तीन1तथाआइपीसीकीधारा304,504केतहतमुकदमादर्जकियागयाथा,जबकिपांचआरोपितोंकोआइपीसीकीधारा147केतहतसजादीगई।