दूषित पानी पीने को विवश है नगर के लोग

लातेहार:शहरकेलोगोंकोशुद्धपेयजलनसीबनहींहोरहाहै।लोगआजभीदूषितपानीपीनेकोलाचारहैं।शहरकेबीचमेंस्थापितसप्लाईपानीटंकीकीकईवर्षोंसेसफाईनहींकीगईहै।यहीनहींइसकाफिल्टरभीखराबपड़ाहुआहै।पानीशुद्धनहींदेतेपरनगरपंचायतकेपदाधिकारीप्रत्येकघरसेपानीसप्लाईकेएवजमेंटैक्सजरूरवसूलतेहैं।

क्याहैपूरामामला:शहरवासियोंकोशुद्धपानीसप्लाईकेलिए1966मेंफिल्टर्डपेयजलआपूर्तियोजनाकीशुरुआतहुईथी।उससमयआबादीकेहिसाबसे30हजारगैलनक्षमतावालीपानीटंकीकानिर्माणकरायागयाथा।वर्तमानसमयमेंशहरकीआबादीकरीबदोलाखकेआसपासपहुंचगईहै।जाहिरहैकिआबादीबढ़ेगीतोपानीकीखपतभीबढ़ेगी।हालांकिनगरपंचायतनेवाटरटैंकतोबढ़ादियालेकिनफिल्टर्डकरनेकीतकनीकवहींपुरानीरही।नतीजतनशहरवासियोंकोपानीतोमिलालेकिनशुद्धनहींमिला।

कितनावसूलतीहैटैक्स:नगरपंचायतद्वारावार्डकेलोगोंसेप्रतिकनेक्शनपानीसप्लाईकाशुल्क120रुपयेवसूलतीहै।लेकिनपानीवहीदूषितरहताहै।लोगइससंबंधमेंनगरपंचायतकोकहकरथकचुकेहैं।यहींनहींशहरकेकईवार्डमेंपानीसप्लाईकीपाइपलाइनभीनहींबिछाईगईहै।जहांपरपाइपलाइनहैतोवहांसप्लाईनहींहोरहीहै।

क्याकहतेहैंवार्डकेलोग:अंबाकोठीनिवासीबनवारीप्रसाद,अशोक¨सह,दिवाकरप्रसाद,मनोजभुइयांआदिलोगोंनेकहाकिनगरपंचायतसिर्फटैक्सवसूलनाजानतीहै,लोगोंकोकोईसुविधादेनेकीजरूरतनहींसमझतीहै।यहांकेपानीमेंबहुतअधिकआयरनकीमात्राहै।इससेहमेशाबीमारीहोनेकाखतराबनारहताहै।हमलोगइसकेलिएखरीदकरफिल्टर्डवालापानीपीरहेहैं।हैंडपंपसेसाफपानीनहींआताहै।

क्याकहाकार्यपालकअभियंताने:नगरपंचायतकार्यपालकपदाधिकारीअरूणकुमारभारतीनेकहाकिशहरमेंपानीकीसप्लाईसाफहोरहीहै।जहांतकफिल्टर्डकीबातहैतोउसकीजिम्मेदारीपीएचडीविभागकोहै।विभागकोइसकेलिएसूचितकरदियागयाहै।

क्याकहाउपायुक्तने:जिलेकेउपायुक्तप्रमोदकुमारगुप्तानेकहाकिगंदापानीसप्लाईकरनागलतबातहै।इसकीजांचकराईजाएगी।