एक-एक बूंद को तड़प रहे ग्रामीण तो कहीं बर्बाद हो रहा पानी

बेतिया।सरकारपानीऔरपर्यावरणकोबचानेकेलिएजलजीवनऔरहरियालीअभियानचलारहीहै।इसकेतहतकईकार्यक्रमोंकाआयोजनभीहोरहाहै।बातजबबॉर्डरइलाकेकेभिखनाठोरीऔरभतूजलागांवकीहोतोपानीकीकिल्लतसेइनगांवोंकोमुक्तिनहींमिली।लेकिनधमौरापंचायतमुख्यालयगांवमेंहीविद्यालयभवनकेपासनलकापानीबेकारहोरहाहै।जरूरतकेअनुसारपानीकेउपयोगकेलिएचंदरुपयेमेंहोसकनेवालीव्यवस्थाभीयहांकिसीकोअबतकनहींसूझी।बतादेंकिगौनाहाप्रखंडकेधमौरापंचायतमुख्यालयगांवकेसमीपराजकीयअनुसूचितजनजातिआवासीयबालिकाउच्चविद्यालयहै।वार्डसंख्याचारमेंअवस्थितइसविद्यालयकेबगलमेसड़ककेसमीपपानीलगातारबर्बादहोरहाहै।पिछलेएकसालसेबर्बादहोरहेपानीकेलिएकोईपूछनेवालाभीनहींहै।जबकिइसीपंचायतमेंभिखनाठोरीवार्डसंख्याएकमेंशुद्धपानीकेलिएग्रामीणआजभीतड़परहेहैं।ग्रामीणसूरजकुमार,तपनमहतो,शिवकुमार,रूपेशकुमार,रामयोध्यामहतो,अमृतकुमारआदिनेबतायाकिमुख्यसड़ककेपासहीइसतरहसेपानीकीबर्बादीपिछलेएकवर्षसेहोरहीहै।लेकिनइसपरनतोपंचायतप्रतिनिधिऔरनहींप्रशासनकाध्यानहै।उल्लेखनीयहैकियहपानीस्वत:धरतीसेनिकलताहैजिसेसंग्रहितकरसप्लाईकेलिएपाइपलगायागयाहै।लेकिननलकोविस्तारितकरअधिकसेअधिकलोगोंकोलाभान्वितनहींकियाजारहाहै।संबंधितविभागभीइससुविधाकेविकासकेप्रतिअपनामुंहमोड़ेहुएहैं।मुखियारामबिहारीमहतोनेबतायाकिइसनलकोआमजनोंकेलिएखुलाछोड़ागयाहैताकिलोगस्नानकरसकें।पानीबर्बादनहो,इसलिएजल्दहीनलकाटोटीलगादियाजाएगा।