एक सप्ताह से मुश्किल में पोस्टमार्टम कर्मचारी

देवरिया:जिलाअस्पतालकेसमीपस्थितपोस्टमार्टमहाउसमेंएकसप्ताहसेस्वास्थ्यकर्मीपरेशानहैं।यहांबारिशकापानीजमाहै।पानीमेंबहरहीगंदगीकेबीचसेहोकरकर्मचारियोंकोजानापड़ताहै।इसकीशिकायतकईबारसीएमओसेकर्मचारियोंनेकीलेकिनसमाधाननहींहुआ।

यहांप्रतिदिनप्रतिदिनपांचसेछहशवोंकापोस्टमार्टमहोताहै।प्रतिदिनयहांडाक्टरोंकीतैनातीकीजातीहैजबकिअन्यकर्मचारियोंकीतैनातीस्थायीरूपसेहै।इनमेंशैलेशतिवारीफार्मासिस्ट,निखिलप्रतापसिंह,संजीववार्डब्वायआदिशामिलहैं।यहांबारिशमेंघुटनेभरपानीलगजाताहै।शवकोठेलेपरयाटांगकरपानीकेबीचसेहोकरपोस्टमार्टमकक्षतकलेजानापड़ताहै।गेटसेकमरेतकजानेकेलिएबनीसड़कडूबगईहै।छतसेभीपानीटपकरहाहै।जानजोखिममेंडालकरकर्मचारीकार्यकररहेहैं।कर्मचारियोंकाकहनाहैकिहमलोगोंनेसड़ककोऊंचाकरानेकीमांगकीतोकर्मचारियोंकोप्लास्टिककाजूतादेदियागया।वहजूताभीपहनकरचलनेपरपानीमेंडूबजाताहै।यहांहरपलसंक्रमणकाखतराहै।सीएमओडा.आलोकपांडेयनेकहाकिपोस्टमार्टमहाउसमेंसमस्याहै।समाधानकाप्रयासकियाजारहाहै।