एनआरसी व सीएए के खिलाफ कांग्रेस का सत्याग्रह

संवादसहयोगी,खटीमा:केंद्रसरकारकेनागरिकतासंशोधनकानूनएवंएनआरसीकेविरोधमेंकांग्रेसकेविभिन्नसंगठनोंनेसंविधानबचाओवदेशबचाओंअभियानकेतहतसत्याग्रहकिया।केंद्रसरकारकेखिलाफनारेबाजीकी।कांग्रेसीनेताओंनेकहाकिसरकारदेशकीअर्थव्यवस्था,किसानोंकीदुर्दशा,मंहगाईजैसेमुद्दोंसेआमजनकाध्यानहटानेकेलिएइसतरहकाकानूनलेकरआईहै।जिसकापार्टीपुरजोरविरोधकरतीहै।

कांग्रेसकेविभिन्नसंगठनोंनेब्लाकपरिसरमेंधरनाप्रदर्शनकररोषजताया।वक्ताओंनेकहाकिबाबाभीमरावअंबेडकरजीकेद्वाराबनाएगएसंविधानकोताकपररखकरअनुच्छेद14,15व21कोदरकिनारकरकेंद्रसरकारधर्मनिरपेक्षवलोकतांत्रिकदेशमेंतानाशाहीपरउतारुहै।देशकोधर्मकेनामपरबांटनेकीसाजिशरचीजारहीहै।देशमेंबेरोजगारी,अर्थव्यवस्था,महंगाईवकिसानपरेशानहै।इनमुद्दोंसेजनताकाध्यानहटानेकेलिएसरकारसीएएलेकरआईहै।इसकेबादअबएनआरसीथोपनेकीतैयारीहोरहीहै।पार्टीसरकारकीइनजनविरोधीनीतियोंकेविरोधमेंआवाजउठातीरहेगी।धरनादेनेवालोंमेंयुवककांग्रेसकेपूर्वप्रदेशअध्यक्षभुवनकापड़ी,व्यापारमंडलअध्यक्षअरुणसक्सेना,पूर्वविधायकगोपालराणा,एसआरगौतम,राजूजुनेजा,महेशजोशी,बॉबीराठौर,प्रदीपकुमार,नरेंद्रआर्या,राशिदअंसारी,राजेशराणा,कुंवरसिंहखनका,रवीशभटनागर,अराफतअंसारी,मो.ताहिर,जसविदरसिंह,राजकिशोर,देवेंद्रकन्यालआदिथे।