गली में भरे गंदे पानी में धान लगाकर जताया रोष

संस,मानसा:गांवकोटधरमूकेलोगगंदेपानीकीकोईनिकासीनहोनेकेकारणनरकभरी¨जदगीव्यतीतकररहेहै।गांववासियोंनेकीचड़औरपानीसेभरीगलीमेंधानकीफसललगाकररोषजतायाहै।गांववासियोंहरदेव¨सहकोटधरमूकिसानयूनियनकादियां,सुरजीत¨सहपंजाबकिसानयूनियन,कुलदीप¨सहदीपा,राजिन्दर¨सह,हरबंस¨सह,हरदेव¨सह,लाभ¨सह,सुरजीत¨सहबोघा,सुमनदीपकौर,परमजीतकौर,अमरजीतकौर,राजकौर,सुखपालकौर,जसवीरकौरनेबतायाकिगांवमेंगंदेपानीकाकोईप्रबंधनहोनेकेकारणघरोंकागंदापानीगलियोंमेंजमाहोजाताहै।गांववासियोंनेजिलाप्रशासनद्वाराकोईठोसहलनहोतादेखखुदहीनौजवाननेताकुलदीप¨सहदीपाकेनेतृत्वमेंअपनेखर्चपरएकबोरकरवायाहै,जिसकेद्वारानिकासीपानीकोधरतीनीचेफेंकाजाएगा।उधरगांववासियोंनेकीचड़औरपानीकेसाथभरीगलीमेंधानकीफसललगाकररोषजतायाहै।गांववासियोंनेकहाकिगांवकोटधरमूराज्यसभासदस्यबलविन्दर¨सहभून्दड़नेगोदलियाहुआहै,परन्तुगांवकाहालदेखकरलगताहैकिवहपुरानीसदीकेकिसीगांवमेंघूमरहेहै।उन्होंनेसरकारऔरजिलाप्रशासनसेमांगकीहैकिगांवकीइसमुश्किलकाहलकियाजाए।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!