गोआश्रय स्थल का बाड़ टूटा, फसल उजाड़ रहे मवेशी

मूरतगंज:किसानोंकीफसलेंबेसहारामवेशियोंसेबचीरहेमवेशियोंकोभीचारेपानीकेलिएइधर-उधरनभटकनापड़े।इसकेलिएबनेगोशालासेअबमवेशीबाहरआरहेहैंऔरकिसानोंकीफसलोंकोनष्टकररहेहैं।इसकोलेकरकिसानोंनेविरोधकियाऔरमामलेकीजानकारीगांवकेसचिवकोदी।इसकेबादभीआश्रयस्थलकेबाड़कोदुरुस्तनहींकरायागया।

मूरतगंजब्लॉककेभीखमपुरगांवमेंतीनसालपहलेगोआश्रयस्थलकानिर्माणकरायागयाथा।यहांपरकरीबदोदर्जनमवेशीहैं।आश्रयस्थलकेचारोओरकटीलातारकोलगायागयाहै।यहतारसमयकेसाथजर्जरहोकरटूटचुेकेहैं।इसकेकारणमवेशीबाहरखेतोंतकपहुंचरहेहैं।आसपासकेखेतोंमेंखड़ीफसलनष्टहोनेसेकिसानपरेशानहैं।किसानबाबूलालनेइसकीशिकायतखंडविकासअधिकारीशैलेशरायसेकरतेहुएमददमांगीहै।उन्होंनेबतायाकिहाड़तोड़मेहनतकेबादफैसलतैयारहुईहै।मवेशीफसलोंकोनष्टकररहेहैं।उनकाआरोपहैकिगांवकेसचिवबीरेंद्रपालकोइसकीजानकारीदीगईहै,लेकिनवहलापरवाहीबरतरहेहैं।सड़कपरभराहैदूषितपानी,परेशानी

संसू,बिजिया:कौशांबीविकासखंडकेबिजियाचौराहापरपूरबकीओरनालीकानिर्माणनहींकरायागयाहै।इसकीवजहसेलोगोंकेघरोंकादूषितपानीरास्तेमेंफैलाहुआहै।इससेराहगीरोंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।बाजारकेसुनीलकुमारवदिनेशकाकहनाहैकिजिलापंचायतबाजारसेटैक्सवसूलताहै,लेकिनलोगोंकीसमस्यासेकुछलेनादेनानहींहै।बस्तीकेलोगघरकेसामनेगड्ढाखोदकरपानीरोकरहेहैं।दूषितजलभरावकीवजहसेसंक्रामकबीमारीफैलनेकीआशंकाहै।