ग्रामीणों को सौंपी गई जंगल सुरक्षा की जिम्मेदारी

संवादसूत्र,बीरमित्रपुर:वनविभागकीओरसेग्रामीणोंकीसहायतासेउजड़ेजंगलमेंपौधारोपणकरउसेहराभराबनादियागयाहै।चारपांचसालपूराहोनेपरपौधेबड़ेहोचुकेहैं।वनविभागकीओरसेइलाकेकेजंगलकीसुरक्षाकीजिम्मेदारीअबवनसुरक्षासमितिकोसौंपीगईहै।बीरमित्रपुरकेइंदरपुरमेंआयोजितकार्यक्रममेंडीएपओएसकेस्वाईंनेग्रामीणोंसेसहयोगतथासुरक्षाकेसंबंधमेंजानकारीदी।

बीरमित्रपुररेंजअंतर्गतपटपमें40हेक्टेयर,पतरापालीमें30,जयडेगामें75,अंधारीमें50एवंघघारीमें20हेक्टेयरजमीनपरपौधेलगाएगएथे।अबयेपौधेपेड़कारूपलेनेलगेहैं।वनविभागकीओरसेइनकीसुरक्षातथाइससेहोनेवालेलाभकेसंबंधमेंग्रामीणोंकोअवगतकरायागया।बतायागयाकिजंगलसुरक्षितरहनेसेहीहमाराभविष्यसुरक्षितरहसकताहै।इसकेलिएजंगलकीसुरक्षाकरने,पेड़ोंकीकटाईरोकने,पालतूपशुओंसेजंगलकोबचाने,लकड़ीकेलिएजंगलकोनहींकाटनेकेप्रतिजागरूककियागया।रेंजरनूतनहेम्ब्रमकेसाथअन्यवनकर्मीशामिलथे।