गर्मी मे पशुओं व पक्षियों को सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी: प्रो. लाल

संवादसहयोगी,अमृतसर:पूर्वडिप्टीस्पीकरप्रो.दरबारीलालनेभीषणगर्मीमेंपशुओंऔरपक्षियोंकोसुरक्षितरखनेकाआह्वानकिया।उन्होंनेकहाकिसैकड़ोंपक्षीगर्मीमेंपानीनमिलनेकेकारणबेहोशहोकरजमीनपरगिररहेहैंऔरकईअपनीजानेगंवारहेहैं।पक्षियोंकेलिएपानीकाप्रबंधकरनाहमारीसांस्कृतिकपरंपरारहीहै।हरव्यक्तिकोअपनेघरकीछतपरकटोरेमेंपानीऔरदानेडालकररखनेचाहिए,ताकिपक्षीअपनीप्यासबुझासके।आजसे50वर्षपहलेघरोंकेआसपाससैकड़ोंपक्षीचहचहातेथे,जिनमेंचिड़िया,कबूतर,तोते,बुलबुल,कोयलभीहोतेथे।शहरकीकरीब-करीबसभीगलियोंमेंपीपल,बोहड़,नीमआदिपेड़होतेथे।समूचेशहरमें50हजारसेज्यादापेड़लगेहुएथे,जिन्हेंकाटदियागयाहै,जहांपक्षीअपनेघोंसलेबनाकररहतेथे।

उन्होंनेकहाकिआजहमारीलापरवाहीऔरगैरजिम्मेदारानारवैयेसेइनकीसंख्याकमरहगईहै।यदियहींहालरहातो50वर्षबादबहुतसारेपक्षियोंकीप्रजातियांहीखत्महोजाएगी।प्रो.लालनेकहाकिपशुऔरपक्षीभीपरमेश्वरकानायाबतोहफाहैऔरसमाजकेअभिन्नअंगहै।आओहमगर्ममहीनेमेंयहसंकल्पलेंकिहमघरोंकीछतोंपरकटोरोंमेंपानीडालकररखें।साथहीकुछदानोंकाभीप्रबंधकरेंऔरपशुओंकोसुरक्षितरखनेमेंकोईकसरनछोड़े।

प्रो.लालनेसभीनागरिकोंसेविशेषकरकेविद्यार्थियोंसेअपीलकीहैकिवहअपनेघरोंमेंएकपानीकाकटोराऔरमुट्ठीभरदानेपक्षियोंकेलिएजरूररखें।