गर्मी में पानी के लिए लोग होने लगे बेचैन, पशु-पक्षी भी बेहाल

एकतरफलोगभीषणगर्मीऔरअधिकतापमानसेपरेशानहैं।लेकिनइससेअधिकपरेशानीअबपानीकोलेकरउत्पन्नहोगईहै।बीतेडेढ़माहसेअधिकतापमानकेकारणतालाबोंवनदियोंकेअलावाअन्यजलस्त्रोतोंमेंएकबूंदपानीनहींबचाहै।भूजलस्तरनीचेजानेकेचलतेगांवोंमेंलगेचापाकलभीपूर्वमेंहीजवाबदेचुकेहैं।गांवमेंलगेएकदोसबमर्सिबलसेलोगपानीकाप्रबंधबीतेकईदिनोंसेकररहेथे।ऐसेमेंलोगोंकेसाथ-साथअबपशु-पक्षियोंकोभीपानीकीसमस्याउत्पन्नहोगईहै।अबतकएकबूंदबारिशनहींहोनेकेकारणपानीकहींनहीबचाहै।विभागद्वाराभलेहीप्रयासकरलोगोंकोपानीउपलब्धकरायाजारहाहो,लेकिनमवेशियोंकेलिएपानीउपलब्धनहींहोपारहाहै।ऐसेमेंमवेशियोंकोलेकरकिसानोंमेंकाफीचितादेखीजारहीहै।मवेशियोंकेलिएपानीकीव्यवस्थाकरनाकिसानोंकेलिएकाफीकठिनकार्यहोगयाहै।लोगसुबहमेंकईबाल्टीपानीलाकरमवेशियोंकेलिएरखरहेहैं।ताकिउन्हेंकमसेकमपानीपिलायाजासके।लेकिनसुबहमेंलायागयापानीकुछदेरबादगर्महोजारहाहै।जिसेमवेशीपीनानहींचाहरहेहैं।ऐसेमेंकिसानबार-बारवैसेस्थानोंपरपहुंचरहेहैंजहांसबमर्सिबललगाहो।यहीहालजिलेकेपहाड़ीक्षेत्रोंकाहै।पहाड़ीक्षेत्रोंमेंमवेशियोंकेसाथ-साथलोगोंकोभीपानीकेलिएपरेशानीहोरहीहै।लोगदो-तीनकिमीदूरजाकरचापाकलयासबमर्सिबलसेपानीलाकरअपनेघरेलूकार्योंकोपूराकररहेहैं।सुबहशामपूरापरिवारपानीकेइंतजाममेंलगजारहाहै।इसकेचलतेअन्यकामभीठपहैं।लोगोंनेबतायाकिबरसातयदिकुछदिनऔरनहींहोगीतोलोगोंकेबीचहाहाकारमचजाएगी।वहींअबकिसानभीबारिशकेइंतजारमेंआसमानकीतरफटकटकीलगाएहुएहैं।लेकिनअबतकइंद्रदेवकीमेहरबानीनहींहुईहै।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप