हांफने लगी उठाऊ पेयजल योजनाएं

संवादसहयोगी,चिंतपूर्णी:चिंतपूर्णीक्षेत्रमेंपाराचढ़नेऔरसमयपरबारिशनहोनेकेकारणउठाऊपेयजलपरियोजनाओंमेंपानीकीकमीहोनेलगीहै।इससेक्षेत्रकेकईगांवोंमेंपेयजलसंकटभीगहरानेलगाहै।यहीहालरहातोयहसमस्यागंभीरहोसकतीहै।

पानीकीज्यादाखपतऔरपारंपरिकजलस्त्रातोंकानकेबराबरउपयोगऔरखड्डोंमेंहोरहेअवैधखननसेयहसमस्यादिनों-दिनबढ़तीजारहीहै।

¨चतपूर्णीक्षेत्रकीबेल्टमेंपेयजलकीसमस्याहालांकिगर्मीकेमौसममेंपेशआतीरहीहै,लेकिनइसबारफरवरीमेंहीऐसेहालातदिखनेलगेहैं।हालांकियहांपारंपरिकजलस्त्रोतोंकीकोईकमीभीनहींहै,बावजूदइसमौसममेंपेयजलसंकटगहराताजारहाहै।

क्षेत्रकीबधमाणाखड्ड,धर्मसालमहंता,अमोकलाप्रीतम,लोहारावटकोलीखड्डमेंअवैधखननकाफर्कउठाऊपेयजलपरियोजनाओंपरसाफदिखरहाहै।कईजगहोंपरपेयजलस्त्रोतोंकेप्रदूषितहोनेसेभीऐसीसमस्यापेशआरहीहै।¨चतपूर्णीकेनारीऔरजवालमेंसीवरेजकेगंदेपानीसेकईस्त्रोतोंकापानीपीनेयोग्यनहींरहाहैतोइसीक्षेत्रकेकिन्नूमेंकुछउद्योगोंद्वाराफैलाईगंदगीसेभीपानीदूषितहोरहाहै।इसीकारणग्रामीणोंकोगर्मीकेमौसमसेपहलेहीपेयजलकेलिएइधर-उधरभटकनापड़रहाहै।

अम्बतकपेयजलसप्लाईसुचारूचलरहीहै।जिनक्षेत्रोंमेंकहींदिक्कतपेशआरहीहै,वहांपरविभागत्वरितकार्रवाईकररहाहै।

अशोककुमार,कनिष्ठअभियंता,आईपीएचविभाग