हिमाचल के 15 हजार अस्थायी शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत, सभी याचिकाएं की रद

शिमला,जेएनएन।हिमाचलप्रदेशकेस्कूलोंमेंसेवारतकरीब15हजारअस्थायीशिक्षकोंकोसुप्रीमकोर्टसेशुक्रवारकोबड़ीराहतमिलीहै।इसमामलेमेंसुप्रीमकोर्टमेंचलरहीसभीयाचिकाआेंकोरद्दकरदियाहै।सुप्रीमकोर्टने9दिसंबर2014कोदिएगएहिमाचलहाईकोर्टकेफैसलेकोबरकराररखाहै।सर्वोच्चन्यायालयकेकोर्टनंबरदोमेंवीडियोकांफ्रेंसिंगकेमाध्यमसेयेफैसलासुनायागया।इससेपहलेसर्वोच्चन्यायालयमेंइसमामलेकीसुनवाई30जनवरीकोपूरीहोचुकीथी।

इसमामलेमेंन्यायालयनेफैसलासुरक्षितरखतेहुएराज्यसरकारकोएकसप्ताहकेभीतरसभीश्रेणियोंकेशिक्षकोंकीशैक्षणिकयोग्यताकाब्योरादेनेकेआदेशदिएथे।फरवरीमेंसरकारनेमामलेसेजुड़ीपूरीजानकारीकोर्टमेंदेदीथी।इसकेअवलोकनकेबादअबयेआदेशदिएगएहैं।

नौदिसंबर2014कोहिमाचलहाईकोर्टनेअस्थाईशिक्षकोंकेहकमेंफैसलासुनायाथा।फैसलाआनेकेबादराज्यसरकारने10सालकासेवाकालपूराकरचुकेपैराशिक्षकोंकोनियमितकरनेआैरसातसालकाकार्यकालपूराकरचुकेशिक्षकोंकोअनुबंधपरलायाथा।22जनवरी2015मेंसुप्रीमकोर्टनेमामलेपरयथास्थितिबरकराररखनेकेआदेशदिएथे।इसकेबादसेशिक्षकअनुबंधपरआगएथे,लेकिननियमितनहींहोपारहेथे।उससमयजोशिक्षककिन्हींकारणोंसेअनुबंधपरनहींआपाएथे,वेपीटीएपरहीसेवाएंदेरहेथे।

किसवर्गमेंकितनेशिक्षक

पीटीएअनुबंध       5107

पीटीएजीआईए      1400

पैटशिक्षक         3409

पैरा               2200

ग्रामीणविद्याउपासक 2600

10सालसेलड़रहेथेलड़ाई

पीटीएशिक्षकलंबेसमयसेअपनेहककीलड़ाईकोलड़रहेथे।इसमसलेमेंहलेहिमाचलप्रदेशहाईकोर्टमेंकाफीसमयतकमामलाचलारहा।इसकेबाद2015सेयेमामलादेशकेसर्वोच्चन्यायालयमेंविचाराधीनथा।इसकेबादसेपांचसालोंसेलगातारहीइसमामलेमेंसुनवाईचलरहीथी।अबसुप्रीमकोर्टकेफैसलेकेबादइन्हेंबड़़ीराहतमिलीहै।