हर घर में नल योजना तो अच्‍छी पर कहां से आएगा पानी

जागरणसंवाददाता,नैनीताल:पश्चिमीविक्षोभकीनिष्क्रियताकीवजहसेइसबारपहाड़मेंगंभीरपेयजलसंकटहोनातयहै।फरवरीमाहमेंहीजलस्रोतसूखनेलगेहैंजबकिकरोड़ोंकीपेयजलयोजनाओंकीपाइपलाइनोंमेंपानीकीमात्राबेहदकमहोगईहै।मवेशियोंतककीप्यासबुझानेवालेपरंपरागतगाड़गधेरोंमेंपानीकीमात्राघटगईहै।पानीकीयोजनाओंकेहरघरमेंनलतोलगगएमगरअब उनमेंजलकीबूंदनहींटपकरहीहै।

राज्यबननेसेपहलेसेचलीस्वजलपरियोजनामेंबड़ेपैमानेपरगांवगांवहैंडपंपलगाएगए।येपम्पउनस्थानोंपरलगाये,जहांपरंपरागतजलस्रोतथे।येजलस्रोतहीगधेरोंकोसालभररिचार्जकरतेथे।जलस्रोतसंरक्षणकेलिएसीमेंटकाप्रयोगकियातोधीरेधीरेजलस्रोतकापानीघटा,फिरस्रोतहीसूखगया।

पहाड़ोंपरगर्मियोंमेंजलसंकटअबनियतिबनगयाहै।उत्तराखंडजलसंस्थानकीरिपोर्टकेअनुसारराज्यकेपांचसौकेकरीबजलस्रोतसूखनेकेकगारपरपहुंचगएहैं।सरकारनेजलनीतिघोषितकरवर्षाजलसंग्रहणकेसाथपारंपरिकस्रोतोंकोबचानेकालक्ष्यतयकियाहै।भूमिगतजलकेसाथहीबारिशकेपानीकोसंरक्षितकरनेकीबातकहीहैमगरहालातदेखकरनहींलगरहाकिजलनीतिवपानीकीयोजनाओंसेजलसंकटदूरहोपायेगा।रामगढ़क्षेत्रमेंबारिशकेपानीकाजलसंरक्षणकरदर्जनोंगांवोंकोपेयजलसंकटसेनिजातदिलाचुकेबचीसिंहबिष्टकहनेहैंकिसिर्फकोरीबातोंसेजलसंकटकासमाधाननहींहोगा।पहाड़केगाड़गधेरोंपरछोटेछोटेजलाशययाबैराजबनाकरपानीकासंचयकरनाहोगा।बड़ीनदियोंयाझरनेसेपम्पिंगयोजनाबनाकरभीपानीपहुंचायाजासकताहै।चेतायाकियदिसरकारनेजलसंरक्षणकोलेकरगंभीरप्रयासनहींकियेतोहरघरकोजलकीयोजनाकभीसफलनहींहोसकती।

UttarakhandFloodDisaster:चमोलीहादसेसेसंबंधितसभीसामग्रीपढ़नेकेलिएक्लिककरें