हर घर नल का जल: नदियों के नैहर में मुश्किल है डगर

खगड़िया।हरघरनलकाजलअभीभीजिलेमेंसपनाहै।सातनिश्चयकेतहतयहमहत्वाकांक्षीयोजनाजिलेमेंलापरवाहीकीभेंटचढ़चुकीहै।129ग्रामपंचायतकी1310औरनगरपरिषदखगड़ियाकी26तथानगरपंचायतगोगरीकी20वार्डोंमेंहरघरनलकाजलयोजनातहतपानीपहुंचानाहै,परंतुअबतकमात्रजिलेकेसातवार्डोंमेंपानीपहुंचानेकादावाविभागनेकियाहै।स्थितिहास्यास्पदहै।जहांपानीपहुंचानेकीबातकहीगईहै,उसमेंगौछारीपंचायतकीवार्डनंबरछहऔरतेलौंछपंचायतकीवार्ड12मेंस्थितिअत्यंतहीनिराशाजनकहै।कहनेकामतलबआजभीयहयोजनाजनसेदूरहै।जिलेकेबहुसंख्यकलोगआर्सेनिकऔरआयरनयुक्तपानीपीनेकोविवशहै।मालूमहोकिजिलेकेगंगाकिनारेकाअधिकांशइलाकाआर्सेनिककीचपेटमेंहै।जबकिसंपूर्णजिलेआयरनसेग्रस्तहै।

जलयोद्धाकेनामसेविख्यातप्रेमकुमारवर्माकहतेहैं-हरघरनलकाजलदिवास्वपनबनकररहगयाहै।इसयोजनाकोलेकरविभागकेपासकोई²ष्टिनहींहै।सवालहैकि,खगड़ियानदियोंकाजिलाहै।यहबिहारकेसर्वाधिकबाढ़प्रभावितजिलोंमेंसेएकहै।ऐसेमें,बाढ़प्रभावितगांव-टोलेमेंबाढ़केसमयशुद्धऔरस्वच्छपेयजलकीआपूर्तिकैसेहोगी?बाढ़मेंपाइपटूटेंगे-फुटेंगे,उसकीक्याव्यवस्थाहै?सामाजिककार्यकर्ताकृष्णमोहनसिंह'मुन्ना'कहतेहैं-हरघरनलकाजलकोलेकरकोईसुगबुगाहटनहींहै।शहरसेसटाहुआहैसन्हौलीपंचायतजबयहांइसयोजनाकेतहतकोईकार्यनहींहुआहै,तोअन्यपंचायतकीभगवानहीमालिकहै।साधन-संपन्नलोगतोपानीखरीदकरपीरहेहैं,लेकिनगरीब-गुरबाअबतकआर्सेनिक,आयरनयुक्तपानीहीपीनेकोविवशहैं।