हर वर्ष नगरवासियों की जलजमाव से होती फजीहत

संवादसहयोगी,निर्मली(सुपौल):रिगबांधसेघिरानिर्मलीशहरविगतकईवर्षोंसेजलजमावकीसमस्यासेजूझरहाहै,कितुसमस्याकेसमाधानहेतुआजतककोईठोसपहलनहींकीगईहै।नगरवासीपरेशानहैं,लेकिनप्रशासनिकअधिकारीसेलेकरमुख्यपार्षदतकनगरकोजलजमावकीसमस्यासेनिजातदिलानेमेंदिलचस्पीलेरहेहैं।विगतवर्षतोहालतयहहोगईथीकिकईदिनोंतकनगरपानीमेंडूबारहा।लोगोंकीदुकानोंएवंघरोंमेंकईदिनोंतकपानीघुसारहा।व्यवसायियोंकोजहांकरोड़ोंरुपयोंकीसामग्रीकीक्षतिहुई।वहींकईगरीबपरिवारोंकेघरोंमेंभीपानीजमारहनेकेकारणघरगिरगए।लोगोंकोबांधपरशरणलेनापड़ा।ज्ञातव्यहोकिनिर्मलीशहरकोबाढ़केपानीसेबचावकोलेकरचारोंओरसेबांधसेसुरक्षादीगईहै।शहरकेजमेपानीकोबाहरनिकालनेकेलिएतीनस्लुईसगेटपश्चिमीकोसीतटबंधनिर्मलीद्वाराबनायागयाहै।जहांसेपंपसेटकेद्वारानगरकेपानीकोबांधकेबाहरनिकालनेकीव्यवस्थाकीगईहै।कितुसभीस्लुईसगेटविगतकईवर्षोंसेबंदपड़ाहै,जिससेअधिकबारिशहोनेपरनगरमेंजलजमावहोनेपरशहरकापानीबाहरनहींनिकलपारहाहै।स्थितियहहोगईहैकिबाढ़केसमयमेंबांधकेबाहरकापानीहीगेटहोकरनगरमेंपर्याप्तमात्रामेंप्रवेशकरजाताहै।अधिकपानीअंदरआनेसेनगरपानीपानीहोजारहाहै।शहरकीस्थितिपानीसेदयनीयहोजाताहै।अबमानसूनआचुकाहै।शहरवासीत्राहिमामकरनेलगेहैं।बारिशकेमहीनेमेंभगवानभरोसेशहरवासियोंकीजिदगीहोतीहै।