इमलोटा के प्रदीप की गाय ने 17 किलो दूध देकर पाया प्रथम

जागरणसंवाददाता,चरखीदादरी:

पशुपालनविभागकीओरसेगायोंकीदेशीनस्लकेपालनकोबढ़ावादेनेऔरइसकेसंरक्षणकेलिएसमय-समयपरग्रामीणवशहरीआंचलमेंदुग्धप्रतियोगिताओंकाआयोजनकरवायाजारहाहै।इसीकड़ीमेंगांवइमलोटामेंभीविभागकेवेटनरीसर्जनडा.वीएसकीदेखरेखमेंभैंसोंवगायोंकीतीनदिवसीयदुग्धप्रतियोगिताकाआयोजनकियागया।पशुपालकोंमेंप्रतियोगिताकोलेकरकाफीउत्साहदेखागया।पशुपालककाफीसंख्यामेंअपनीगायोंकोलेकरप्रतियोगितामेंशामिलहुए।इसप्रतियोगितामेंगांवइमलोटानिवासीप्रदीपपुत्रधर्मपालकीगाय17किलोग्राम647ग्रामदूधदेकरप्रथमस्थानपररही।डा.वीएसनेबतायाकिप्रदीपकोविभागकीओरसे20हजाररुपयेकापुरस्कारदियाजाएगा।पशुपालनविभागकीटीमनेपशुपालककोबधाईदीऔरमौकेपरमौजूदलोगोंकोविभागकीओरसेलागूकीजानेवालीपशुकल्याणकारीयोजनाओंकेबारेमेंबताया।उन्होंनेबतायाकिसरकारगायोंकीदेशीनस्लकोबढ़ावादेनेकेलिएपशुपालकोंकोजागरूककरनेकेसाथहीउन्हेंप्रोत्साहितकरतीहै।गांव-गांवशिविरवदुग्धप्रतियोगिताएंआयोजितकरदेशीगायकेपालनकोबढ़ावादियाजारहाहै।जिसकाकाफीसकारात्मकप्रभावभीक्षेत्रमेंदेखनेकोमिलरहाहै।इसअवसरपरविनोदकुमार,राजेंद्र¨सह,राजकुमार,दुष्यंतकलकल,जयप्रकाश,जोगेंद्र,सतबीरइत्यादिभीमौजूदथे।