Jagran Impact: थैलेसीमिया ग्रसित मासूम विवेक का इलाज अब होगा गोड्डा मुख्‍यालय में...Godda News

गोड्डा,जेएनएन:जिलेकेमेहरमाप्रखंडकेमालप्रतापपुरगांवकेएकमजबूरपिताकोअबप्रतिमाहअपनेमासूमबेटेजोथैलेसीमियारोगसेग्रसितहै,उसेलेकरजामताड़ासदरअस्पतालनहींजानाहोगा।मासूमकाइलाजअबजिलामुख्यालयकेसदरअस्पतालमेंहोगा।गोड्डासदरअस्पतालस्थितब्लडबैंकमेंहीबच्चेकोप्रतिमाहनिश्शुल्कओनिगेटिवब्लडचढ़ाएजाएंगे।दैनिकजागरणके29मईकेअंकमेंप्रकाशितबेटेकीजानबचानेहरमाहसाइकिलसेजातेजामताड़ाशीर्षककीखबरपढ़नेकेबादस्वास्थ्यविभागनेपीड़ितपरिवारकीसुधली।सिविलसर्जनडॉएसपीमिश्रानेकहाकिथैलेसीमियापीड़ितकईमरीजोंकायहांइलाजहोरहाहै।मरीजकेस्वजनकोसिर्फचारदिनपूर्वब्लडग्रुपकीजानकारीदेकरअपनापंजीयनकरालेनाहै।इसकेबादअस्पतालप्रबंधनकीओरसेसारीव्यवस्थाकरदीजाएगी।

उन्होंनेकहाकिमेहरमाकेमालप्रतापपुरगांवकेपीड़ितमासूमचारवर्षीयविवेककुमारकेबारेमेंअबतककोईजानकारीसदरअस्पतालयामेहरमास्वास्थ्यकेंद्रमेंनहींदीगईथी।अगरविभागकेसंज्ञानमेंयहमामलाहोतातोउन्हेंजिलाअस्पतालमेंहीइलाजकीसारीसुविधाएंमुहैयाकरादीजाती।

बतादेंकिमालप्रतापपुरगांवकेदिहाड़ीमजदूरदिलीपयादवकोअपनेबेटेकीजानकेलिएहरमाहकरीब300किमीकीदूरीसाइकिलसेतयकरनीहोतीहै।लॉकडाउनमेंथैलेसीमियापीड़ितबेटेविवेककुमारकोखूनदिलानेकेलिएवहसाईकिलपरबैठाकरमेहरमासेगोड्डा,दुमकाहोतेहुएजामताड़ातककीदूरीतयकरताहै।विवेककाब्लडग्रुपएनिगेटिवरहनेकेकारणउसेखूनमिलनेमेंहरबारकठिनाईकासामनाकरनापड़ताहै।परबेटेकीजानकेसामनेदिलीपयादवकोहरकठिनाईमामूलीलगताहै।यहीकारणहैकिबेटेकेजन्मकेछहमाहबादसेहीवहलगातारखूनदिलानेकेलिएजद्दोजहदकररहाहै।शुरूहुआहैवहनिरंतरजारीहै।जामताड़ासदरअस्पतालमेंदिलीपयादवकोदोयुवकचेतनकृष्णयादवतथाविश्वजीतसिंहसेमददमिलरहीहै।

भागलपुरसेदिल्लीतकअपनेबेटेकाकराचुकेइलाज:

दिलीपयादवकहतेहैंकिदोबेटीकेबादघरमेंबेटाजन्मलियाथा।हमलोगमजदूरजरूरथेपरमेरीपत्नीरेखादेवीबोलीकिबेटाहुआहै,इसलिएगांवकेलोगोंकोखुशीमेंभोजखिलानाहै।हमलोगोंनेगांववालेकोभाेजभीखिलाया।करीबपांचमाहबीतनेकेबादबच्चेकोसर्दी,खांसी,बुखारआनेलगा।पीरपैतीकेडॉक्टरअरूणसेदिखाए।जांचकेबादपताचलाकिविवेककोथैलेसीमियारोगहै।इसेहरमाहखूनदेनाहोगा।इसकेशरीरमेंखूननहींबनताहै।इसकेबादवेअपनेबेटेकोलेकरभागलपुरचलेगए।वहांभीवहींजवाबमिला।

दिलीपयादवकहतेहैंकिभागलपुरमेंएनिगेटिवखूननहींमिलनेलगातोडॉक्टरोंनेबच्चेकोपीएमसीएचपटनालेजानेकीसलाहदी।फिरउसनेसोचाअभीतोभागलपुरसेपटनाभेजाजारहाहै।अगरपटनामेंभीखूननहींमिलातोफिरदिल्लीजानापड़सकताहै।इसलिएदिलीपयादवनेकर्जलेकरअपनेबेटेकोदिखानेदिल्लीचलागया।पहलेसफदरगंजअस्पतालमेंदिखाया।वहांकईमाहमुफ्तमेंखूनमिलतारहा।फिरवहांकेचिकित्सकोनेसलाहदियाकिमुफ्तमेंखूनयहांबच्चोंकोज्यादादिननहींमिलेगा,इसलिएबच्चेकोराममनोहरलोहियाअस्पतालमेंभर्तीकरादीजिए।इसीदौरानवहवहांमजदूरीभीकरनेलगाऔरबेटेकोबचानेकीजद्दोजहदजारीरहा।

दिलीपयादवकहतेहैंलॉकडाउनमेंदिल्लीसेघरआगया।इसदौरोनलगातारसाईकिलसेजामताड़ाजाकरबच्चेकोखूनचढ़वारहाहूं।कईबारगोड्‌डाब्लडबैंकसेभीखूनमिलापरओनिगेटिवखूनबड़ीमुश्किलसेहीमिलपाताहै।जामताड़ामेंजानपहचानकेभाईनेबच्चेकीजानबचानेकेलिएखुशी-खुशीरक्तदानकरनेकीबातकहीतोहरमाहजामताड़ाहीचलाजाताहूं।दिलीपनेबतायाकिविवेककेइलाजमेंदसलाखरुपयेकीजरूरतहै।महागामाविधायकदीपिकापाण्डेयसिंहकोभीगंभीरबीमारीयोजनाकेतहतकागजातदिएहैं।अगरवहांसेस्वीकृतहोगयातथाअबबेटापांचसालकाहोजाएगातोइसकाराशनकार्डऔरआधारकार्डबनवाकरआयुष्मानकार्डसेपांचलाखतथाकुछमददसमाजकेलोगोंनेकरदियातोइसकाइलाजगंगारामअस्पतालदिल्लीमेंजरूरकराएंगे।