Jammu Kashmir: दोहरी चुनौती से जूझ रहा स्वास्थ्य विभाग, स्टॉफ कम, अहम पदों पर आसीन अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित

जम्मू,रोहितजंडियाल।पिछलेडेढ़वर्षोंसेचुनौतियोंसेनिपटरहेस्वास्थ्यएवंचिकित्साशिक्षाविभागकोएकसाथकईचुनौतियोंसेनिपटनापड़रहाहै।एकओरजहांविभागकाकामदिनप्रतिदिनबढ़ताजारहाहै,वहींअहमपदोंपरबैठेकईअधिकारीसंक्रमितहोचुकेहैंऔरअन्यअधिकारियोंपरकामकाबोझबढ़रहाहै।कांट्रेक्टपरसेवानिवृत्तडाक्टरोंकोरखनेकीयोजनाभीअधिककारगरसाबितनहींहोपाईहैऔरबहुतकमडाक्टरोंनेज्वाइनकियाहै।वहींअब500बिस्तरोंकीक्षमतावालेडीआरडीओकेअस्पतालकोभीचलानेकीजिम्मेदारीस्वास्थ्यविभागकेस्टाफकीहीहोगी।

स्वास्थ्यएवंचिकित्साशिक्षाविभागसेमिलीजानकारीकेअनुसार,दूसरीलहरमेंभीस्वास्थ्यकर्मीबड़ीसंख्यामेंसंक्रमितहोरहेहैं।इससमयडिप्टीडायरेक्टरस्किम्सघरमेंआइसोलेटहैंजबकिकंट्रोलरस्टोर,दोमेडिकलसुपरिटेंडेंटभीसंक्रमितहोगएहैं।वहींसांबाकेमुख्यस्वास्थ्यअधिकारीभीस्वास्थ्यसंबंधीकारणोंसेछुट्टीपरहैं।कईडाक्टरऔरपैरामेडिकलस्टाफभीसंक्रमितहैं।इससेस्वास्थ्यविभागकाकामप्रभावितहोरहाहैऔरमौजूदअधिकारियोंपरदबावबढ़रहाहै।जम्मूमेंडिप्टीडायरेक्टरहेडक्वार्टरकापदपहलेसेहीरिक्तपड़ाहुआहै।

24घंटेमेंचारडाक्टरोंकीमौतहोगईहै

स्वास्थ्यविभागकेएकउच्चाधिकारीकेअनुसार,दूसरीलहरमेंकईऐसेस्वास्थ्यकर्मीहैंजिनकेपूरेपरिवारहीसंक्रमितहोगएहैं।24घंटेमेंचारडाक्टरोंकीमौतहोगईहै।इनमेंदोडाक्टरअभीनौकरीकररहेथेऔरअभीयुवाथे।जम्मू-कश्मीरसरकारकोभीयहजानकारीहैकिस्वास्थ्यविभागमेंइससमयडाक्टरोंवअन्यस्वास्थ्यकर्मियोंकीकमीबनीहुईहै।इसीकोदेखतेहुएउपराज्यपालप्रशासननेमेडिकलकॉलेजोंऔरस्वास्थ्यनिदेशालयोंकेअधीनआनेवालेअस्पतालोंसेसेवानिवृत्तहोनेवालेडाक्टरोंकोएकवर्षकेलिएकांट्रेक्टपरनियुक्तकरनेकोकहाथा।लेकिनइसमेंसेवानिवृत्तडाक्टरोंनेकोईखासरूचिनहींदिखाई।बहुतकमडाक्टरहैजिन्होंनेज्वाइनकिया।अधिकांशनेऑनलाइनहीअपनीसेवाएंदेनेकाफैसलाकिया।इससेभीस्वास्थ्यएवंचिकित्साशिक्षाविभागकीचुनौतियांकमनहींहुईहै।

स्वास्थ्यविभागकोतकनीकीस्टाफकीजरूरतपड़ेगी

अबस्वास्थ्यविभागकोडीआरडीओद्वारातैयारकिएजारहे500बिस्तरोंकीक्षमतावालेअस्पतालकोचलानेकीजिम्मेदारीभीसौंपीगईहै।सिर्फभगवतीनगरवालेइसअस्पतालकोचलानेकेलिएहीस्वास्थ्यविभाबको680डक्टरोंवअन्यस्वास्थ्यकर्मियोंकीजरूरतहै।इन500बिस्तरोंकीक्षमतावालेअस्पतालमेंसे175बिस्तरआइसीयूकेहैंजबकि375अन्यबिस्तरोंमेंभीआक्सीजनकीसुविधाहोगी।ऐसेमेंस्वास्थ्यविभागकोतकनीकीस्टाफकीजरूरतपड़ेगी।स्वास्थ्यविभागकेअधिकारियोंकोअस्पतालतैयारकरनेसेपहलेइन680स्वास्थ्यकर्मियोंकाप्रबंधकरनेकोकहागयाहै।अबस्वास्थ्यविभागकीदुविधायहहैकिनएपदोंपरकर्मचारियोंकोकांट्रेक्टपरनियुक्तकियाजाएयाफिरग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्थितअस्पतालोंसेकुछस्टाफकोडीआरडीओकेअस्पतालमेंनियुक्तकियाजाएण्।इसपरमंथनचलरहाहै।

विभागकोविडकीचुनौतियोंसेनिपटनेमेंहरसंभवप्रयासकररहाहै

स्वास्थ्यनिदेशकजम्मूडा.रेनूशर्माकाकहनाहैकिविभागकोविडकीचुनौतियोंसेनिपटनेमेंहरसंभवप्रयासकररहाहै।स्वास्थ्यकर्मियोंकेसंक्रमितहोनेकीआशंकाबनीरहतीहै।लेकिनजोभीकर्मचारीइससमयकामकररहेहें,वेदिनरातमेहनतकररहेहैं।उन्होंनेकहाकिडीआरडीओकेअस्पतालकेलिएस्टाफकासमयसेपहलेप्रबंधहोजाएगा।

स्वास्थ्यविभागकेसमक्षचुनौतियां: