जगनमोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश में कैसे चंद्रबाबू को धूल चटाई

2009मेंआंध्रप्रदेशकेतत्कालीनमुख्यमंत्रीडॉ.वाई.एस.राजशेखररेड्डीकीहेलिकॉप्टरदुर्घटनामेंमौतहोगईथी.इसमौतकेबादसेहीउनकेबेटेवाई.एस.जगनमोहनरेड्डीआंध्रप्रदेशमेंसियासीख़ालीपनकोभरनेकीकोशिशकररहेथे.

2009मेंवोकडप्पालोकसभाक्षेत्रसेसांसदबने.अगरउनकेपिताजीवितहोतेतोजगनभीकांग्रेसमेंहोते.पिताकेअसामयिकनिधनकेबादजगनकोकांग्रेसमेंमनमुताबिक़तवज्जोनहींमिलीऔरउन्होंनेकांग्रेससेअलगराहचुनली.

राजनीतिमेंदस्तककेकुछहीमहीनोंबादजगनमोहननेअपनेपिताकोखोदिया.इसकेबादकांग्रेसपार्टीकेसाथउनकाटकराव,वित्तीयमामलोंमेंफँसनेकेबाद16महीनोंकीजेलउनकेइर्द-गिर्दघूमतीरहीं.हालांकिजगनमोहननेराजनीतिकरूपसेकभीसरेंडरनहींकिया.

कडप्पाज़िलेकेपुलिवेंदुलामें21दिसंबर1972कोजगनमोहनकाजन्महुआ.पुलिवेंदुलामेंकुछसमयपढ़नेकेबादवहहैदराबादपब्लिकस्कूलपढ़ाईकेलिएचलेगए.उन्होंनेकॉमर्ससेस्नातककियाहै.उनकीछोटीबहनशर्मिलाभीराजनीतिमेंहैं.जगनमोहनप्रोटेस्टेंटईसाईहैं.

2009में15वींलोकसभासेअपनीराजनीतिकयात्राशुरूकरनेवालेजगनमोहनकापरिवारलंबेसमयसेराजनीतिसेजुड़ारहाहै.

पहलीबारवहकांग्रेसपार्टीकेउम्मीदवारकेरूपमेंसंसदपहुंचे.उनकेपिताराजशेखररेड्डीकीअसामयिकमृत्युकेबादउनकेपिताकेकईचाहनेवालोंनेआत्महत्याकरलीथी.

स्मृतिईरानी:मोदीविरोधीअनशनसेराहुलकाकिलाभेदनेतक

उससमयजगननेसोचाकिआत्महत्याकरनेवालेलोगोंकेघरोंमेंजाकरउन्हेंसांत्वनादीजानीचाहिए.इसकोलेकरउन्होंनेएकसांत्वनायात्राशुरूकी.हालांकि,कांग्रेसकेहाईकमाननेउन्हेंइसयात्राकोसमाप्तकरनेकेनिर्देशदिएलेकिनजगननेइसकीपरवाहकिएबिनायात्राजारीरखी.

उन्होंनेकहाकियहउनकाव्यक्तिगतमामलाथाऔरइसकेबादउन्होंनेकांग्रेसपार्टीकोख़ुदसेअलगकरलिया.

29नवंबर2010कोउन्होंनेलोकसभाकीसदस्यतासेइस्तीफ़ादेदिया.सातदिसंबर2010कोउन्होंनेघोषणाकीकिवह45दिनोंमेंअपनीनईराजनीतिकपार्टीकागठनकरेंगे.

पूर्वीगोदावरीमेंमार्च2011मेंउन्होंनेघोषणाकीकिउनकीपार्टीकानामवाईएसआरकांग्रेसहोगा.वाईएसआरकामतलबवाईएसराजशेखररेड्डीसेनहींथा.इसकामतलबयुवजनश्रमिकरायतूकांग्रेसपार्टीहै.

इसकेबादउन्होंनेवाईएसआरकांग्रेसपार्टीसेकडप्पाचुनावक्षेत्रसेचुनावलड़ाऔरउन्होंने5,45,043वोटपाकरबड़ीजीतदर्जकी.

चुनावनतीजे2019:फ़िल्मीसितारोंकाक्याहैहाल

जगनकेख़िलाफ़कईकेसदर्जकिएगएऔरवोजेलमेंभीरहे.आंध्रप्रदेशकोविभाजितकरनेकाफ़ैसलाजबयूपीएसरकारनेलियातबवहजेलमेंहीभूखहड़तालपरबैठगए.

125घंटेकीभूखहड़तालकेबादउनकाशूगरऔरब्लडप्रेशरकास्तरतेज़ीसेनीचेचलागया.सरकारनेउन्होंनेउस्मानियाअस्पतालमेंभर्तीकराया.जगनकीमांऔरविधायकविजयम्मानेभीराज्यकेविभाजनकेख़िलाफ़भूखहड़तालकी.

जेलसेनिकलनेकेबादजगननेतेलंगानाकेगठनकेख़िलाफ़72घंटेकाबंदकाआह्वानकिया.जगनऔरविजयम्मानेअपनेपदसेइस्तीफ़ादेदिया.

2014मेंराज्यकेविधानसभाचुनावमेंउनकीपार्टीकोभारीहारकासामनाकरनापड़ा.आंध्रकी175मेंसेवाईएसआरकांग्रेस67सीटोंपरहीजीतदर्जकरसकी.जगनकोविपक्षकेनेताकीभूमिकामिली.

मोदीकेसामनेक्योंनहींटिकपायाविपक्ष?

इसकेबाद6नवंबर2017कोउन्होंने'प्रजासंकल्पयात्रा'कीशुरुआतकीजिसमेंउन्होंनेआंध्रप्रदेशमें3648किलोमीटरकीयात्रापूरीकी.

430दिनोंतकयात्रा13ज़िलोंमेंचलीऔरइसमें125विधानसभाक्षेत्रशामिलथे.यहयात्रा9जनवरी2019कोसमाप्तहुई.इसयात्राकेदौरान'हमजगनचाहतेहैं,जगनकोआनाचाहिए'नारागूंजा.3648किलोमीटरकीयात्राकेदौरानलोगोंकेबीचउनकोलेकरउत्साहदेखनेकोमिला.

कांग्रेसमेंरहतेहुएउन्होंनेकेंद्रीयमंत्रीबननाबेहतरनहींसमझाबल्किवहउचितमौक़ेपरमुख्यमंत्रीबननेकीसंभावनाएंतलाशरहेथे.

वहदृढ़तासेअपनेमक़सदमेंलगेरहेऔरकिसीभीस्थितिमेंनहींझुके.ऐसीक्षमताउनकेसमकालीनराजनीतिज्ञोंमेंकमहीहै.

जगनमेंबहुतसीविशेषताएंहैं,वहकार्यकर्ताओंकोनेतृत्वदेतेहुएउनमेंउत्साहभरतेहैं.पार्टीबनानेकेकमसमयबादहीउन्होंनेचुनावोंकासामनाकियाऔरउसमेंउन्हेंहारकाभीसामनाकरनापड़ा.

पार्टीकैडरोंकीझुंझलाहटऔरदूसरेदलोंकीअदला-बदलीकेबादजगननेकुछशर्तेंभीबनाईं.उन्होंनेकहाकिअगरकोईदूसरीपार्टीकाउम्मीदवारचुनावजीतताहैऔरउनकीपार्टीमेंशामिलहोनाचाहताहैतोउसेइस्तीफ़ादेकरउनकीपार्टीमेंआनाहोगा.

वहइससिद्धांतकोबनाएहुएहैं.राष्ट्रीयस्तरपरयहनीतिराजनीतिकदलोंकेलिएआदर्शहै.जगनमोहनरेड्डीकीउम्रकोध्यानमेंरखतेहुएकहाजासकताहैकिवहऐसेनेताहैंजिन्हेंराजनीतिमेंएकलंबारास्तातयकरनाहै.