जिले में आबादी के हिसाब से वनक्षेत्र 3.3 प्रतिशत, लगाएं अधिक पौधे

जागरणसंवाददाता,कैथल:पर्यावरणसंरक्षणकेलिएवृक्षोंकीसंख्यामेंइजाफाकरनाकाफीआवश्यकहै।इसलिएअधिकसेअधिकवृक्षलगानाअनिवार्यहै।वृक्षहोंगेतोउतनाअधिकहीहमारीआनेवालीपीढ़ीकोशुद्धवायुमिलपाएगी।जिलेकीआबादीकरीब12लाखहै।जबकिवनक्षेत्रकरीब7216हेक्टेयरमेंहै।जोआबादीकेहिसाबसेकेवल3.3प्रतिशतहीहै।जोजिलेकेलोगोंकेलिएचिताकाविषयहै।

पर्यावरणसंरक्षणकेमद्देनजरवनक्षेत्रकीसंख्याबढ़ानीहोगी।यहहमारेस्वास्थ्यकेलिहाजसेभीकाफीजरुरीहै।इसीकड़ीमेंवनविभागकीओरसेपिछलेदोवर्षाेंमें10लाखसेअधिकपौधेलगाएगएहैं।

जिलेमेंहैंतीनरेंज:

कैथलजिलेमेंकुलतीनरेंजबनाईगईहै।जिसमेंचीकाऔरगुहलाक्षेत्रसरस्वतीरेंजमेंआतेहै।जबकिकैथल,सीवनऔरकलायतकैथलरेंजमेंआतेहै।इसीप्रकारसेपूंडरीरेंजमेंपूंडरी,ढांडऔरराजौंदकाक्षेत्रशामिलहै।यहांपरहरवर्षमानसूनकेसमयमेंपौधेलगाएजातेहैं।तीनोंरेंजमेंकुल13नर्सरियांभीबनाईगईहै।जिसमेंकैथलऔरपूंडरीमेंचार-चारवसरस्वतीरेंजमेंपांचनर्सरियांस्थापितकीगईहैं।

पिछलेदोवर्षाेंमेंलगाएदसलाखसेअधिकपौधे:

वनविभागकीओरसेपिछलेदोवर्षमेंदसलाखसेअधिकपौधेलगाएगएहैं।विभागनेवर्ष2018मेंछहलाखपौधेऔरवर्ष2019मेंसाढ़ेचारलाखपौधेलगाएगएहैं।इसबारभीविभागकीओरसेपांचलाखपौधेलगानेकालक्ष्यरखागयाहै।

अधिकपौधेलगानेचाहिए:

पर्यावरणविदअशोककुमारनेबतायाकिपर्यावरणकेलिएपौधोंकासंरक्षणकरनाजरुरीहै।इसलिएहमेंमानसूनकेदौरानअधिकसेअधिकपौधेलगानेचाहिए।ऐसाकरनेमेंहमेंहीनहीं,बल्किहमारीआनेवालीपीढ़ीकोअधिकफायदामिलेगा।जिलेमेंजनसंख्यामेंहिसाबसेकाफीकमसंख्यामेंपौधेहोनाकाफीचितावालीबातहै।

पांचलाखपौधेलगानेकालक्ष्य:

वनविभागकेजिलाअधिकारीराजवीरतेजयाननेबतायाकिवनविभागकीओरसेअधिकवृक्षलगानेकेलिएकार्यकियाजारहाहै।इसवर्षभीविभागनेपांचलाखपौधेलगानेकालक्ष्यरखाहै।इसकेसाथहीविभागकीकईयोजनाओंकेतहतपौधेलगाएंजोहैं।