जल संकट गहराया, साइकिल व बाइक पर ढो रहे पानी

मेदिनीनगर:राज्यकेपुरानेजिलोंमेंशुमारपलामूपेयजलसंकटसेजूझरहाहै।डेढ़लाखआबादीवालेशहरमेदिनीनगरनगरनिगमक्षेत्रकेलोगोंकोजलसंकटनेबेचाराबनादियाहै।शहरकेलोगोंकीप्यासबुझानेकेलिएटैंकरकापानीसहाराबनरहाहै।दिनतोदिनरातकेअंधेरेमेंभीलोगनजदीकीचापाकलआदिसेपानीभररहेहैं।साइकिल,मोटरसाइकिल,ठेलाआदिपानीढोनेकामाध्यमबनरहाहै।35वार्डोंवालामेदिनीनगरनगरनिगमक्षेत्रमेंसुबहसेशामतकटैंकरसेपानीकावितरणहोरहाहै।गली-मुहल्लोंटैंकरकीआवाजसुनतेहीपानीभरनेकेलिएलोगोंकीभीड़एकत्रितहोरहीहै।ऐसीस्थितिमेंआधा-धापीमचनास्वाभाविकहै।हरदिनकईक्षेत्रोंमेंपानीभरनेकेदौरानतू-तूमैं-मैंऔरमारपीटजैसीघटनाएंहोरहीहैं।यहपानीकेलिएयुद्धकासंकेतहै।जलसंकटसेजूझरहेलोगोंकोजलसंरक्षणकेप्रतिसजगहोनाहोगा।समयरहतेअगरनहींचेतेतोभविष्यमेंपानीकेलिएयुद्धतयहै।बहरहाल,जलसंचयनकोलेकरदैनिकजागरणकीओरविभिन्नस्तरपरअभियानजारीहै।जलसंचयनकेलिएहरेकव्यक्तिकोपहलकरनाहोगा।सामूहिकसहयोगसेहीजलसंचयनहोसकताहै।अगरहरेकव्यक्तिपानीकीबर्बादीबंदकरेऔरघरोंमेंजलसंचयनकाइंतेजामकरदेतोकाफीहदतकजलस्तरस्थाईरहेगा।बरहाल,शहरमेंपानीकेलिएलोगपरेशानहैं।अधिकतरचापाकलसूखचुकेहैं।गुरुवारकोजागरणकीटीमनेशहरकेकईमुहल्लोंकाजायजालिया।पायाकिटैंकरकेइंतजारमेंकईलोगबाल्टी-गैलेनलेकरसड़कपरइंतजारकररहेहैं।टैंकरकेपहुंचतेहीवहांआपा-धापीमचगई।कईलोगोंनेबतायाकिशहरकेजलसंकटकास्थाईसमाधानढूंढनाचाहिए।पेयजलापूर्तियोजनासेकेंडफेजकोअविलंबधरातलपरउतारनेकीदिशामेंइमानदारपहलकरनेकीजरूरतहै।